सबसे बड़ा धर्म दूसरों की भलाई करना है, ये 12 तस्वीरें तो...

सबसे बड़ा धर्म दूसरों की भलाई करना है, ये 12 तस्वीरें तो यही कहती हैं

0
SHARE

रामचरितमानस में एक चौपाई है – “परहित सरिस धरम नहिं भाई, परपीड़ा सम नहिं अधमाई !”, अर्थात दूसरों का भला करने बड़ा कोई धर्म नहीं और दूसरों को कष्ट देने से बड़ी कोई नीचता नहीं. लेकिन आजकल चारों ओर से सिर्फ निराशाजनक ख़बरें ही आती दिखाई देती हैं. इन ख़बरों को जानने के बाद लगता है कि दुनिया से जैसे मानवता उठ सी गई है. लेकिन ऐसा है नहीं … !

इस पोस्ट में  हम इन्टरनेट पर वायरल हुई कुछ ऐसी तस्वीरें लेकर आये हैं जो अपनी कहानी खुद कहती हैं और हमें अहसास दिलाती हैं कि मानवता इस दुनिया से कभी नहीं उठ सकती. वो हमारे आसपास ही है, बस उसकी चर्चा जरा कम होती है …. ज़रा देखिये इन लोगों को जो किस तरह अपने दैनिक जीवन में भलाई के काम कर रहे हैं.

1. अपंग महिला को बारिश से बचाने के लिए इस आदमी ने खुद भीगना मंजूर किया …

act-of-kindness-1

2. इस धावक ने अपनी प्रतिस्पर्धी विकलांग धावक को पानी पिलाया

act-of-kindness-2

3. बुजुर्गों के प्रति इस आदमी का ये सेवाभाव काबिल-ए-तारीफ़ है …

act-of-kindness-3

4. ये तस्वीर दर्शाती है कि इन सज्जन के मन में जीवों के प्रति कितनी दया है …

act-of-kindness-4

5. व्हील चेयर पर आये इस व्यक्ति को दर्शकों ने ऊपर उठा लिया ताकि वह भी आनंद ले सके …

act-of-kindness-5

6. इस दुकानदार ने लोगों को फ्री मोबाइल चार्जिंग की सुविधा दे रखी है

act-of-kindness-6

7. ट्रेन और प्लेटफार्म के बीच फँसे एक व्यक्ति को निकालने के लिए लोगों ने ट्रेन को ही उठा लिया

act-of-kindness-7

8. एक प्रदर्शन के दौरान आँसू गैस की चपेट में आये इस कुत्ते का लोगों ने इलाज किया

act-of-kindness-8

9. नहर में गिरे कुत्ते को निकालने का बच्चों का यह प्रयास सराहनीय है

act-of-kindness-9

10. अपनी जान जोखिम में डाल कर इस व्यक्ति ने बाढ़ के पानी में फँसे कुत्ते के बच्चों को बचाया

act-of-kindness-10

11. बच्ची को नंगे पैर घूमते देख इन सज्जन ने अपनी चप्पलें उतार कर उसे दे दीं

act-of-kindness-11

12. दो जाँबाज़ युवकों ने लहरों में फंसी भेड़ की जान बचाई …

act-of-kindness-12

 

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY