पढ़िये 5 गुदगुदाते चुटकुले, क्योंकि हँसना ही ज़िन्दगी है

पढ़िये 5 गुदगुदाते चुटकुले, क्योंकि हँसना ही ज़िन्दगी है

0
SHARE

वफादार कुत्ता

एक महाशय अपना कुत्ता बेच रहे थे.

खरीददार – “यह कुत्ता वफादार तो है ना भाई ?”

महाशय – “इससे वफादार कुत्ता तो आपको पूरे शहर में नहीं मिलेगा साहब ! इससे पहले तीन बार इसे बेच चुका हूँ मगर हर बार भागकर सीधा मेरे पास ही वापस आ जाता है !!!”

दो ही पैसेंजर

एक साहब सुबह-सुबह ऑफिस जाने के लिए बस में चढ़े तो कंडक्टर ने मुस्कुराते हुए पूछा – “कल रात ठीक-ठाक घर पहुँच गए थे सर ?”

साहब – “क्यों ? कल रात को मुझे क्या हुआ था ?”

कंडक्टर – “टुन्न थे आप !”

साहब (गुस्से से) – “ये तुम कैसे कह सकते हो ? मैंने तो तुमसे बात तक नहीं की थी ?”

कंडक्टर – “ऐसा है सर जी, कल जब आप बस में बैठे हुए थे तो एक मैडम बस में चढीं थी और आपने उठकर उन्हें सीट ऑफर की थी !”

साहब – “तो ? लेडीज को सीट ऑफर करना गुनाह है क्या ???”

कंडक्टर – “गुनाह तो नहीं है सर, पर उस समय बस में केवल आप दो ही पैसेंजर थे !!!”

अब ऐसा क्यों नहीं

पत्नी (पति से) – आपको याद है शादी के शुरूआती दिनों में जब मैं खाना बनाती थी तो आप मुझे ज्यादा खिलाते और खुद कम खाते थे ! …. अब ऐसा क्यों नहीं … ?

.

.

पति – क्योंकि अब तुम खाना बनाना सीख गई हो !!!

मैं मूरख

पत्नी – “सुनो जी, अगर आपके बाल इसी तरह से झड़ते रहे तो देखना एक दिन मैं आपको छोड़कर चली जाऊंगी !”

.

.

.

पति – “हे भगवान ! और मैं मूरख अब तक इनको बचाने की कोशिश कर रहा था !!!”

किस पर हँसेंगे

ये बताइये कि इन दोनों में से आप किस पर हँसेंगे …?

ग्राहक : एक कोलगेट देना …

दुकानदार : कौनसा ?

ग्राहक : पेप्सोडेंट !

 

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY