साठ साल के रामजीत यादव ने किसी हीरो की तरह बचाई 15...

साठ साल के रामजीत यादव ने किसी हीरो की तरह बचाई 15 बच्चों की जान

0
SHARE

जब खुद अपनी जान पर बनी हो, ऐसी स्थिति में किसी दूसरे की जान बचा लेना, और वह भी एक दो नहीं, 15 बच्चों की जान बचा लेने का कारनामा तो कोई हीरो ही कर सकता है. उत्तरप्रदेश के मिर्ज़ापुर जिले के 60 वर्षीय रामजीत यादव एक ऐसे ही हीरो हैं जिन्होंने अपनी जान की परवाह न करते हुए 15 स्कूली बच्चों को गंगा नदी में डूबने से सुरक्षित बचा लिया.

ramjeet

गुरूवार के दिन रोज की तरह दूध के कारोबारी रामजीत यादव गंगा पार मिर्ज़ापुर शहर जाने के लिए अपनी दूध की टंकियों के साथ नाव पर सवार हुए. उसी नाव में 15 स्कूली बच्चे भी सवार हुए जिन्हें रामपुर पढ़ने जाना था.

बीच नदी में नाव में अचानक पानी भरने लगा और वह डूबने लगी. अचानक बनी इस स्थिति से सभी बच्चे घबरा गए और सहायता के लिए चिल्लाने लगे. मल्लाह ने नाव को नियंत्रित करने की कोशिश की परन्तु नाकामयाब रहा. आखिरकार वह नाव छोड़कर अपनी जान बचाने के लिए किनारे की ओर तैर गया.

रामजीत और 15 बच्चों की जान पर बन आई थी लेकिन इस बीच रामजीत ने स्थिति को भांप लिया था और वह अपनी तैयारी कर चुके थे. उन्होंने एक लड़के का हाथ कस कर पकड़ा और बाकी बच्चों को भी एक दूसरे को मजबूती से पकड़ने को कहा. इसके बाद बच्चों सहित पानी में कूद कर किनारे की और तैरने लगे.

ऐसी स्थिति में तैरना काफी मुश्किल होता है लेकिन रामजीत ने हौसला नहीं खोया. वे सभी 15 बच्चों को लिए हुए धीरे-धीरे किनारे की ओर बढ़ने लगे. रामजीत का यह अदम्य साहस देखकर किनारे से यह सब देख रहे कुछ स्थानीय लोग भी प्रेरित हुए और वे भी मदद के लिए नदी कूद पड़े. आखिरकार सभी बच्चे और रामजीत सुरक्षित किनारे पर पहुँच गए.

ऐसी स्थिति में ज्यादातर लोग सिर्फ अपनी जान बचाने की चिंता करते हैं लेकिन 60 की उम्र होने के बावजूद भी रामजीत ने जो किया वह अद्भुत है. आज वे अपने गाँव ही नहीं, आसपास के गाँवों के भी हीरो बन गए हैं.

हम भी उनकी बहादुरी की भूरि-भूरि प्रशंसा करते हैं …. !

(Source)

 

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY