पंजाब के एक कस्बे में भारत और पाकिस्तान हैं दो भाइयों के...

पंजाब के एक कस्बे में भारत और पाकिस्तान हैं दो भाइयों के नाम

0
SHARE

भारत में यदि आप खोजेंगे तो आपको नेपाल सिंह और भूटान सिंह नाम के कई लोग मिल जायेंगे लेकिन पाकिस्तान सिंह नाम का आदमी शायद कहीं न मिले. दरअसल 1947 से ही भारत और पाकिस्तान के रिश्ते इतने तल्ख़ हैं कि दोनों ही देशों में कोई अपने बच्चे का नाम दूसरे देश के नाम पर रखने की सोच भी नहीं सकता.

लेकिन देश में एक परिवार ऐसा है जिसने अपने बच्चों के नाम भारत और पाकिस्तान रखे हैं. बड़े बेटे का नाम भारत सिंह और छोटे का नाम पाकिस्तान सिंह. ये दोनों बेटे हैं पंजाब के मुक्तसर जिले के रहने वाले लकड़ी के कारीगर गुरमीत सिंह के.

गुरमीत सिंह उस परिवार से ताल्लुक रखते हैं जिसने भारत पाकिस्तान बंटवारे के समय और फिर 1984 के दंगों के समय हुई हिंसा झेली है. वे नहीं चाहते कि अब तीसरी बार कोई ऐसा समय आये जब उन्हें फिर वही सब झेलना पड़े. इसीलिए सद्भावना का सन्देश देने के लिए उन्होंने अपने बेटों के नाम भारत और पाकिस्तान रखे हैं.

गुरमीत सिंह की सोच यही है कि जिस तरह उनके बेटे आपस में भाई हैं वैसे ही भारत और पाकिस्तान भी आपस में भाई हैं और दोनों को मिलकर रहना चाहिए. भारत और पाकिस्तान दोनों देशों को सद्भावना का सन्देश देने के लिए गुरमीत सिंह ने सिर्फ अपने बेटों के नाम ही इन देशों के नाम पर नहीं रखे बल्कि उनकी दुकान का नाम भी ‘भारत पाकिस्तान वुड वर्क्स’ है.

ऐसा नहीं हैं कि अपने दूसरे बेटे का नाम पाकिस्तान रखने में उन्हें विरोध का सामना नहीं करना पड़ा. न सिर्फ उनके रिश्तेदारों बल्कि उनकी अपनी माँ ने भी उनसे नाराजगी जताई. यहाँ तक कि स्कूल में छोटे बेटे के एडमिशन के समय स्कूल वालों ने भी ऐतराज़ जताया. आखिरकार स्कूल में उन्हें अपने छोटे बेटे का नाम बदल कर करणदीप लिखवाना पड़ा.

लेकिन भले ही स्कूल में करणदीप नाम लिखा गया हो, गुरमीत के छोटे बेटे को अभी भी बुलाते सभी पाकिस्तान नाम से ही हैं.

(Source : TopYaps)

 

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY