Home Life & Culture अनोखा पेड़, जिसके नाम दुनिया भर से लोग चिट्ठियाँ लिखते हैं

अनोखा पेड़, जिसके नाम दुनिया भर से लोग चिट्ठियाँ लिखते हैं

0

जर्मनी में Eutin के पास स्थित Dodauer Forst नामक जंगल में oak का एक पेड़ है जिसे हर साल दुनिया भर से सैकड़ों चिट्ठियाँ मिलती हैं. ये मत सोचिये कि इस पेड़ पर या इसके आसपास कोई रहता होगा जिसके लिए ये चिट्ठियाँ आती हैं. ये चिट्ठियाँ इस पेड़ के नाम से ही आती  हैं और पेड़ के तने में ही बने एक सूराख में डाली जाती हैं.

जर्मनी सरकार ने इस पेड़ को अपना पोस्टल एड्रेस दे रखा है जो इस प्रकार है,

Bräutigamseiche,
Dodauer Forst,
23701 Eutin, Germany

अब आप सोच रहे होंगे कि इस पेड़ में आखिर ऐसा क्या ख़ास है जो सरकार ने इसे अपना डाक का पता दे रखा है और लोग इसके लिए चिट्ठियाँ लिखते हैं. चलिए आपको बताते हैं.

सबसे पहले तो जान लीजिये कि इस पेड़ को Bridegroom’s Oak के नाम से जाना जाता है. नाम से शायद आपको कुछ अंदाजा हो रहा होगा. जी हाँ, आप सही सोच रहे हैं. ये पेड़ प्रेमियों को मिलाने के लिए, शादियाँ कराने के लिए मशहूर है.

पेड़ से जुड़ी कई किवदंतियां हैं, उनमें से जो सबसे ज्यादा मशहूर है वह आपको बताते हैं. आज से कोई सौ साल पहले Ohrt नामक एक लड़की थी जो एक लड़के से प्यार करती थी.

लड़की के पिता को वह लड़का पसंद नहीं था और उसने अपनी बेटी को उस लड़के से मिलने से मना कर रखा था. पर प्रेमी ह्रदय कहाँ मानते हैं. तो बताते हैं कि दोनों इसी पेड़ के कोटर के माध्यम से अपने प्रेमपत्रों का आदानप्रदान किया करते थे.

बाद में लड़की का बाप मान गया और फिर इसी पेड़ के नीचे 2 जून 1891 को उनकी शादी हो गई.

लड़का लड़की ने अपने मिलन में पेड़ का बहुत योगदान माना और फिर धीरे धीरे यह बात फ़ैल गई कि यह पेड़ प्रेमियों को मिलाने में मदद करता है. इलाके के दूसरे प्रेमी भी आकर पेड़ के कोटर में अपने प्रेम सन्देश / निवेदन छोड़ने लगे.

ज्यादा क्या कहें, 1927 आते आते पेड़ इतना लोकप्रिय हो गया की जर्मनी के डाक विभाग को उस पेड़ का अपना पोस्टल कोड बनाना पड़ा ताकि लोग पेड़ तक आने के बजाये अपनी चिट्ठियाँ सीधे डाक से भेज सकें.

आज स्थिति ये है कि लोग अपना प्यार पाने की आस में इस पेड़ को दुनिया भर से चिट्ठियाँ लिखते हैं.

पेड़ का लैटरबॉक्स, यानी कि कोटर या सूराख, जमीन से कोई 3 मीटर ऊपर है जहां तक पहुँचने के लिए सीढ़ी लगाईं गई है. यह एक तरह से पब्लिक लैटर बॉक्स है जहां कोई भी चिट्ठी डाल सकता है, पढ़ सकता है और जवाब दे सकता है.

एक पोस्टमैन जो कि इस पेड़ को चिट्ठियाँ डिलीवर किया करता था, उसे भी अपने पार्टनर की प्राप्ति इस पेड़ के लिए आई एक चिट्ठी के माध्यम से ही हुई थी.

2009 में इस पेड़ की भी शादी प्रतीकात्मक रूप से एक चेस्टनट वृक्ष से करा दी गई थी. यह चेस्टनट पेड़ जर्मनी का ऐसा दूसरा पेड़ है जिसका भी अपना पोस्टल एड्रेस है और यह BrideGroom Oak वृक्ष से 503 किलोमीटर दूर स्थित है.

 तो कहो, दुनिया है न मजेदार जगह !


(Source : amusingplanet)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here