मजदूरी करने केरल गया था, पहुँचते ही एक करोड़ की लाटरी लग...

मजदूरी करने केरल गया था, पहुँचते ही एक करोड़ की लाटरी लग गई

0
SHARE

किस्मत खुलना किसे कहते हैं ? इस सवाल के जवाब में आप बेहिचक मोफिजुल रहीमा शेख का उदाहरण दे सकते हैं. बर्धमान जिले का निवासी यह 22 वर्षीय बंगाली युवक काम की तलाश में केरल पहुँचा था. उसने कभी सपने में भी नहीं सोचा था कि सौभाग्य की देवी वहाँ पलक-पांवड़े बिछाए उसका इंतज़ार कर रही होगी.

कुछ ही दिन पहले कंस्ट्रक्शन वर्कर के रूप में काम करने केरल आये मोफिजुल को पहली मजदूरी मिली तो उसने ने यूँ ही राज्य सरकार की कारुण्य लाटरी का 50 रूपए का टिकट खरीद लिया था. पर कहते हैं न कि कब किसकी किस्मत किस तरीके से खुल जाए, कोई नहीं जानता. जो टिकट उसने खरीदा था, तीन दिन बाद उसी पर एक करोड़ का इनाम निकल आया.

एकाएक अपने नाम पर इतनी बड़ी रकम के इनाम की खबर मिलते ही मोफिजुल खुश तो हुआ लेकिन साथ ही डर भी गया कि कहीं कोई उसका टिकट छीन न ले.

kerala-lottery-winner

इसलिए वह सबसे पहले सीधा पुलिस के पास गया और सुरक्षा की मांग की. पुलिस ने भी उसका पूरा सहयोग करते हुए अपनी निगरानी में इनाम की राशि उसे दिलवा कर बैंक में जमा करा दी.

मोफिजुल और उसके घरवाले अब बहुत खुश हैं. उनकी योजना है कि इस पैसे से पहले तो घर की मरम्मत करवाएंगे फिर कोई बिज़नेस शुरू करेंगे.

किस्मत के खेल निराले मेरे भैया !

(समाचार – TOI)

 

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY