फ्लाइट उड़ी 1 जनवरी 2017 को और पहुँची 31 दिसम्बर 2016 को

फ्लाइट उड़ी 1 जनवरी 2017 को और पहुँची 31 दिसम्बर 2016 को

0
SHARE

जी नहीं, हम किसी टाइम मशीन या हॉलीवुड की फंतासी फिल्म की बात नहीं कर रहे हैं. वास्तविक दुनिया में ऐसा हुआ है कि एक फ्लाइट शंघाई से 1 जनवरी 2017 को उड़ी और 11 घंटे का सफ़र तय करके जब सैन फ्रांसिस्को पहुँची तो तारीख 31 दिसम्बर 2016 ही थी.

चीन के शंघाई शहर से फ्लाइट UA890 ने एक जनवरी 2017 को उत्तरी केलिफोर्निया के सैन फ्रांसिस्को शहर के लिए उड़ान भरी थी. 11 घंटे बाद जब यह फ्लाइट अपने गंतव्य पर लैंड हुई तब सैन फ्रांसिस्को में तारीख 31 दिसम्बर 2016 ही चल रही थी.

आप में से बहुत से सोच रहे होंगे कि ऐसा कैसे हो सकता है ? समय पीछे कैसे जा सकता है ? तो भैया आप बिलकुल सही सोच रहे हैं समय कहीं पीछे नहीं गया बल्कि ये सब हुआ है दोनों शहरों के अलग-अलग टाइमजोन में होने के कारण.

दरअसल शंघाई का समय सेन फ्रांसिस्को के समय से 16 घंटे आगे है. इसलिए जब 1 जनवरी को शंघाई से फ्लाइट उड़ी तो समय आगे होने की वजह से फ्लाइट 2016 में ही अपने गंतव्य पर पहुंच गई. यही कारण था कि 11 घंटे चलने के बाद भी फ्लाइट पिछली तारीख में पहुँच गई.

 

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY