Saarthak Satsang

Saarthak Satsang

0
SHARE

सत्संग उसी संत का सार्थक है
जिसके पंडाल में गर्म
पोहा-जलेबी और अदरक वाली चाय बंटती हो …
.
.
.
वर्ना ज्ञान तो आजकल फेसबुक और वाट्सएप पर भी बंटता है !!!

 

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY