लव-मैरिज Vs अरेंज-मैरिज

लव-मैरिज Vs अरेंज-मैरिज

27
SHARE

लव-मैरिज Vs अरेंज-मैरिज

किसी व्यक्ति से यह पूछा जाना कि वह लव-मैरिज करना पसंद करेगा या अरेंज-मैरिज, कुछ वैसा ही है जैसे किसी से यह पूछा जाना कि वह ख़ुदकुशी करना  पसंद करेगा या फिर क़त्ल होना ?

Sent By : Shirish, Aligarh.

 

27 COMMENTS

  1. क्यूँ नही मई भी येही कहता हूँ,
    पापा से बोलूं क्या !!!!!

  2. प्यार वो अहसास है जो जो हर किसी को नहीं होता. प्यार को महसूस करने के लिए सिर्फ और सिर्फ प्यार की जरुरत होती है. मई प्रदीप जी से सहमत hoon.

  3. मेरे प्यारे दोस्तों,,,,
    प्यार का कोई एक अर्थ नही है,,,,
    और मै मानता हु की प्यार अँधा नही होता,,,,
    हा पर जिसको प्यार होता है वो जरुर अँधा हो जाता है,,,,,

  4. pyaar ek dhokha hai iske alaawa aur kuch bhi nhi, agar apko pyaar ho gya to samajhiye aapke hasne k din khatm ho gye hai, rone k liye taiyaar rahiye

  5. Hi
    Love is a refreshment in our life. We don’t have to apply it forcefully on ourselves /others . Just enjoy every moment of it. Doesn’t have to do anything with marriage.it can happen before / after marriage. Jst keep ur heart open. Every morning ll b refreshing with love.it always felt awesome Express ur feelings to ur partner but don’t make it a job for morning/evening. So Don’t demand it but when it comes to u jst accept it. Life ll b beautiful.😊

LEAVE A REPLY