सुख ही सुख

संता (ज्योतिषी से) – महाराज, बताइए मेरी शादी कब होगी ?

ज्योतिषी – कभी नहीं होगी.

संता – क्यों ?

ज्योतिषी – कैसे होगी ? तुम्हारे भाग्य में तो सुख ही सुख लिखा है … !

Sent By : Isak Khan, Bhind.

Share With Your Friends -

    10 thoughts on “सुख ही सुख

    1. यार ………….. वाकई तुम्हारे इस जोक को कहते हैं “सिंपल बट ग्रेट” !!! साधुवाद स्वीकार करो : मनीष

    2. अरे यार अच्छा किया बता दिया बरना मई तो शादी KAR ही LETA

    3. hey! prince, vo to karni padegi kyonki ‘shadi aisa laddu hai jo khae vo bhi pachtae jo na khae vo bhi’……

    4. तब तो सारे सादी सुदा के किस्मत में दुःख लिखा hoga

    Leave a comment

    Your email address will not be published. Required fields are marked *