वंश-परम्परा

वंश-परम्परा

0
SHARE

पिता – बेटे, तुम्हारे दादाजी ने शादी की और पछताए। मैंने शादी की और पछता रहा हूं। अब तुम क्या करोगे ?

पुत्र – और कर ही क्या सकता हूं। वंश-परम्परा निभाऊंगा । शादी करूंगा और फिर पछताऊंगा .

 

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY