स्पर्श

स्पर्श

1
SHARE

प्रेमी : मैं तुम्हारी चिट्ठियों पर लगे डाकटिकटों को चूमना नहीं भूलता क्योंकि उनमें तुम्हारे होंठों का स्पर्श शामिल रहता है।

प्रेमिका : ओह, लेकिन डाकटिकटों को चिपकाने का काम तो मेरी बूढ़ी नौकरानी किया करती है …..

Sent By : Rakesh Gupta, Delhi.

 

1 COMMENT

  1. हमारी ज़िन्दगी में आपका मुकाम बहुत खास है,
    हर पल आपकी दुरी का एहसास है!
    जब भी आपका SMS नहीं आता तो,
    लगता है की हमारे मोबाइल का आज उपवास है!

LEAVE A REPLY