सबर कर

सबर कर

0
SHARE

एक बस का एक्सिडेंट हो गया.

एक आदमी जोर-जोर से रो रहा था – हे भगवान्! मेरा हाथ टूट गया !!!

संता – अबे सबर कर, इतना क्यों चिल्ला रहा है ? उस आदमी को तो देख जो मर गया फिर भी चुपचाप लेटा हुआ है ……… !!!

Sent By : Neeraj, Najaphgarh ND.

 

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY