निशाना चूक गया

निशाना चूक गया

2
SHARE

एक बार एक गुरू अपने चेले को तीर-कमान चलाने की शिक्षा दे रहे थे.

गुरू ने कहा – “देखो बेटा, वो जो अमरुद दिख रहा है उसी में निशाना लगाओ.”

चेले ने निशाना लगा के तीर छोड़ा तो निशाना चूक गया. चेला बोला – “साला निशाना चूक गया !”.

इस पर गुरू क्रोधित हो गए और बोले – “गाली मत दो ! चलो फिर से निशाना लगाओ.”

चेले ने फिर से निशाना लगाया और फिर चूक गया और फिर से दोहराया – “साला निशाना चूक गया.”

इस पर गुरु भड़क उठे और बोले – “अबकी बार अगर तुमने गाली दी तो आसमान से एक तीर आयेगा और तुम्हारी आँख में लग जाएगा !”

इसके बाद जैसे ही चेले ने तीर छोड़ा, आसमान से एक तीर आया और गुरु की आँख में लग गया.

इसके बाद ऊपर से आवाज़ आई – “साला निशाना चूक गया !!!”

 

2 COMMENTS

  1. एक आदमी को रेलवे टिकट लेने गया ,मुझे टिकट बुकिंग करना फार्म दिजीया बुकिंग में एक लड़की थी फार्म भर कर जमा किया लड़की बोली इ क्या भरा है सेक्स- हाँ करते है लिंग -६ इंच का है लड़की गुसा हो गई और बोली इ सब काटना पड़ेगा !आदमी बोला मुझे लिंग नहीं कटवानी है में बस से चला जाऊंगा मुझे नहीं जनि है ट्रेन से !

LEAVE A REPLY