तुम क्यों चले गए

तुम क्यों चले गए

0
SHARE

man-crying

एक अंग्रेज अपनी मां की कब्र पर फूल चढ़ाने के लिये कब्रिस्तान गया तो देखा कि पास की कब्र पर एक आदमी  जार-जार रो रहा था।
वह आदमी रोते रोते कह रहा था – ”तुम क्यों चले गये? तुम्हें नहीं जाना था। तुम्हारे जाने से मेरी जिन्दगी कितने कष्टों से भर गई है तुम कभी नहीं समझ पाओगे। हाय, तुम क्यों चले गये ?”
अंग्रेज उसके पास पहुंचा और बोला – ”भाई, हौसला रखो । एक दिन सभी को यहीं आना है। यह तो संसार का नियम है।”
आदमी को इससे कुछ ढाढ़स मिला और उसका रोना कम हुआ ।
अंग्रेज ने उससे पूछा – ”भाई, ये किसकी कब्र है? तुम्हारी मां की ? या फिर पिता की ?”
आदमी जिसने अब तक खुद को संभाल लिया था, बोला – ”मेरी बीबी के पहले पति की।”

 

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY