Home Hindi Jokes Hindi Jokes (Miscellaneous) जबान के पक्के

जबान के पक्के

0

रामलाल अपनी बड़ी लड़की की शादी के लिए लड़के की तलाश में एक दूसरे गाँव में अपने एक परिचित किशन सिंह  के पास गया और उससे कोई ठीक सा लड़का दिखाने के लिए कहा। किशन ने अपने पड़ौस में एक लड़का दिखाया और उसके माँ-बाप से बातचीत भी करवाई। लड़का खेती-बाड़ी करता था और उसकी उम्र बताई गई थी पच्चीस साल। लेकिन किन्हीं कारणों से यहाँ रिश्ते की बात पक्की न हो सकी। रामलाल की लड़की की शादी कहीं और हो गई।

रामलाल की एक और लड़की भी थी जो बड़ी लड़की से पाँच साल छोटी थी। पाँच साल बाद रामलाल छोटी लड़की की शादी के लिए लड़के की तलाश में फिर उसी गाँव में अपने परिचित किशन सिंह के पास जा पहुँचा जहाँ बड़ी लड़की के लिए लड़का देखने गया था लेकिन बात नहीं बनी थी।

रामलाल उस बात को भूल चुका था। इस बार फिर किशन सिंह रामलाल को लड़का दिखाने ले गया और संयोग से उसी घर में जा पहुँचे जहाँ पाँच साल पहले भी गए थे। वहाँ जाकर रामलाल को याद आया कि ये तो वही लड़का है जिसे पाँच साल पहले बड़ी लड़की के लिए देखने आया था। बातचीत का दौर शुरू हुआ और लड़के के माँ-बाप ने बताया कि लड़का खेती-बाड़ी करता है और उम्र है पच्चीस साल।

रामलाल ने कहा, ”भई क्या माजरा है? मैं पाँच साल पहले आया था तब भी आपने लड़के की उम्र पच्चीस साल बताई थी और आज भी पच्चीस साल बता रहे हो।”

लड़के के बाप ने कहा, ”देखो भाई हम इस किस्म के आदमी नहीं है जो आज कुछ कहें और कल कुछ कहें। हम अपनी जबान के पक्के हैं और आप पाँच साल बाद भी पूछोगे तो भी लड़के की उम्र पच्चीस साल ही बताएँगे।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here