खर्चा

खर्चा

0
SHARE

भिखारी- “‘क्या बात है साहब, पहले आप सौ रुपए देते थे, बाद में पचास, फिर
पच्चीस और अब दस रुपए देते हैं।”

दानी- ‘”पहले मैं कुँवारा था तब सौ, फिर मेरा विवाह हो गया तो पचास, एक बच्चा
हो गया तो पच्चीस और अब दो बच्चे हो गए इसलिए दस रुपए देने लगा।”

भिखारी- “‘वाह साहब, आपके पूरे परिवार का खर्चा तो मेरे रुपयों से ही चल रहा है।”

Sent By : Alka Shrivastava, Lucknow

 

SHARE
Previous articleमनाही
Next articleMade in India

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY