बेचैनी

बेचैनी

4
SHARE

तीन कंजूस दोस्त एक रोज प्रवचन सुनने के लिए गए। प्रवचनकर्ता संत ने प्रवचनों के बाद किसी सत्कार्य के लिए सभी से चंदा देने के लिए पुरजोर अपील करते हुए कहा कि हरेक कुछ न कुछ जरूर दे। 

जैसे-जैसे चंदे वाला थाल उन कंजूसों के नजदीक आता गया वे बेचैन हो उठे। यहां तक कि उनमें से एक बेहोश हो गया और बाकी दो उसे उठाकर बाहर ले गए।

 

4 COMMENTS

  1. बकवास फिर कभी मत भेजना पकाता है साला म्फ्म्फम्फ्म्फ़ .फ्फ्क्फक्फ़

  2. पिग और पिग्नी एक होटल में गए और वहा आर्डर किया

    एक लिंडी पकोड़ा एक tati पनीर एक दम लांडी गू कड़ी और पिग्नी ने कहा भैया प्याज मत डालना उस ki स्मेल से उलटी अति hai

LEAVE A REPLY