आखिर में …

आखिर में …

18
SHARE

एक रात बिजली नहीं थी और संता का  सिगरेट पीने का मन हुआ.

.

.

सब तरफ माचिस ढूंढी, पर कहीं नहीं मिली.

.

.

आखिर में  मन मारकर, मोमबत्ती बुझाकर सो गया.

Sent By : Neetu Saxena, Kanpur.

 

18 COMMENTS

  1. Neetu main nahi janta ki aap meri friend jo hum 8th class me new saraswati siksha niketan me padte the wahi ho ya koi or if you r other girl so sorry

  2. साला पागल था लाइट आने का इंतजार करता और लाइट आते ही ट्रांस फार्मर से जला लेता

LEAVE A REPLY