फर्क

कबीर दास -

” आज का काम कल पर मत छोड़ो क्योंकि हो सकता है कल प्रलय आ जाये  और सब ख़तम हो जाये.”
.
.
.
.
.
.

आज के नौजवान -

 आज का काम कल पे जरुर छोड़ो …

हो सकता है कल उसके लिए कोई मशीन आ जाये और  काम और भी आसान हो जाये…..

Sent By : Abhinav Srivastava, Lucknow.

Share With Your Friends -

    7 Comments on फर्क

    1. good ………

    2. काम के लिये तुम ने अच्छी बात बोली हे वैरी गुड

    3. you all dog

    4. sahi kaha………………dog other ko dog hi bol sakta hai……….

    5. ye baat agar ladke samje to bahot sari ladkiya bach jayegi

    Leave a comment

    Your email address will not be published.

    *