Home News हाइपरलूप का अब तक नाम सुना होगा, अब तस्वीरें देख लो

हाइपरलूप का अब तक नाम सुना होगा, अब तस्वीरें देख लो

0

बीते साल से हाइपरलूप चर्चा में है और अब तक इसकी इतनी चर्चा हो चुकी है कि आपने नाम भी सुन लिया होगा और इसके प्रोटोटाइप की तस्वीरें भी देख ली होंगी. लेकिन अब इसकी वास्तविक तस्वीरें दुबई से रिलीज़ हो गई हैं और अब ये कहा जा सकता है कि ये मात्र कल्पना नहीं है.

अब तक दुनिया में जमीन पर चलने वाले आवागमन के साधनों में बुलेट ट्रेन ही सबसे तेज मानी जाती है लेकिन हाइपरलूप एक ऐसी तकनीक है जिसके आगे बुलेट ट्रेन बहुत धीमी नजर आएगी. कहा तो ये जा रहा है कि इसकी स्पीड हवाई जहाज से भी ज्यादा होगी.

इसका निर्माण दुबई और अबूधावी के बीच शुरू हो चुका है और इसकी शुरुआती तस्वीरें सामने आईं हैं.

इसके बनने के बाद दुबई और अबू धावी के बीच की 140 किलोमीटर की दूरी मात्र 12 मिनट में तय हो जाया करेगी.

दुबई और अबूधावी के बीच हाइपरलूप सेवा 2020 में शुरू होने की सम्भावना है.

गुरूवार को दुबई के रोड एंड ट्रांसपोर्ट अथॉरिटी ने इसके डिजाईन मॉडल से पर्दा उठाया है. भविष्य की इस सवारी की जो तस्वीरें सामने आईं हैं वे बहुत ही खूबसूरत हैं.

हाइपरलूप एक ट्यूब टेक्नोलॉजी है जिसमें खम्भों के ऊपर एक एलिवेटेड ट्यूब बिछाई जाती है. इस ट्यूब के भीतर पॉड्स में यात्री बैठकर यात्रा कर सकते हैं. ये पॉड्स ट्यूब के भीतर वैक्यूम में चुम्बकीय शक्ति से दौड़ते हैं.

हाइपरलूप टेक्नोलॉजी में बिजली का खर्च बहुत कम है और प्रदुषण तो बिलकुल नहीं है.

इसकी अधिकतम गति 1200 किलोमीटर बताई जा रही है जो वर्तमान में उपलब्ध आवागमन के सभी साधनों से तेज है. आपको जानकर ख़ुशी होगी कि संयुक्त अरब अमीरात, अमेरिका, फ़िनलैंड, कनाडा, नीदरलैंड्स के अलावा हमारे देश भारत में भी इसका काम चल रहा है. भारत में आंध्रप्रदेश और महाराष्ट्र में सबसे पहले हाइपरलूप दौडाने की योजना है.

हाइपरलूप टेस्ला के संस्थापक एलन मस्क के दिमाग की उपज है. एलन मस्क वही हैं जिन्होंने अभी कुछ दिनों पहले अन्तरिक्ष में कार भेजी थी.

(Images : Dailymail)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here