वो अभिनेत्री जिसने अमिताभ बच्चन को शहंशाह बनाया

वो अभिनेत्री जिसने अमिताभ बच्चन को शहंशाह बनाया

0
SHARE

आज बॉलीवुड की वरिष्ठ अभिनेत्री, अमिताभ बच्चन की पत्नी जया बच्चन का 70वां जन्मदिन है. 9 अप्रैल 1948 को जबलपुर में एक बंगाली परिवार में जन्मी जया भादुड़ी बच्चन ने अपने पूरे फ़िल्मी करियर में तकरीबन 50 फ़िल्में ही कीं लेकिन इसके बावजूद उन्होंने अपने सादगी भरे किन्तु दमदार अभिनय से बॉलीवुड की दूसरी अभिनेत्रियों के मुकाबले एक अलग मुकाम बनाया. आज आपको जया बच्चन से जुडीं कुछ ऐसी बातें बताते हैं जो शायद आपको पता नहीं होंगी.

वे मात्र 15 वर्ष की थीं जब सत्यजित रे ने उन्हें अपनी फिल्म ‘महानगर’ में काम करने का मौका दिया. इससे पहले वे एक शार्ट फिल्म और एक कॉमेडी फिल्म में नजर आ चुकीं थीं.

सत्यजित रे के साथ काम करने के बाद उन्हें अभिनय में और भी दिलचस्पी बढ़ी और वे बाकायदा प्रशिक्षण लेने पुणे के फिल्म एंड टेलीविज़न इंस्टिट्यूट में चली आईं. यहाँ अपने अभिनय का कोर्स उन्होंने गोल्ड मैडल हासिल करने के साथ पूरा किया.

हिंदी फिल्मों के लोकप्रिय खलनायक डेनी डेन्जोगप्पा उनके जूनियर थे. आपको शायद पता नहीं होगा कि उनको डेनी निकनेम जया बच्चन ने ही दिया था. उनका पूरा नाम वैसे शेरिंग फेन्त्सो डेन्जोगप्पा है.

अमिताभ बच्चन के साथ उनकी पहली फिल्म ‘बंसी बिरजू’ थी जो 1972 में आई थी. ये वो दौर था जब अमिताभ की फ़िल्में फ्लॉप हो रहीं थीं. जब उन्हें ‘ज़ंजीर’ ऑफर हुई तो कोई भी हीरोइन उनके साथ काम करने को राजी नहीं थी. ऐसे में जया ने उनके साथ काम करना स्वीकार किया और यहीं से दोनों का एक दूसरे के प्रति झुकाव हुआ जो अंततः शादी में परिवर्तित हो गया.

अपने पति अमिताभ बच्चन के साथ उनकी ‘मिली’, ‘जंजीर’, ‘शोले’, ‘अभिमान’, ‘चुपके चुपके’ और ‘कभी ख़ुशी कभी गम’ आदि यादगार फ़िल्में हैं.

आज अमिताभ बच्चन को बॉलीवुड के शहंशाह के नाम से जाना जाता है. ये नाम उन्हें उनकी फिल्म ‘शहंशाह’ की वजह से मिला. आपको शायद ये जानकारी नहीं होगी कि ‘शहंशाह’ फिल्म की कहानी की लेखिका कोई और नहीं बल्कि जया बच्चन थीं.

जया बच्चन कुल 6 फिल्म फेयर अवार्ड जीत चुकी हैं जिनमें तीन बार बेस्ट एक्ट्रेस तथा तीन बार बेस्ट सपोर्टिंग एक्ट्रेस के लिए था. उन्हें ‘पद्मश्री’ सम्मान से भी नवाजा जा चुका है. विगत डेढ़ दशक से वे राजनीति में भी सक्रिय हैं. वे 2004 में पहली बार राज्यसभा के लिए चुनी गईं थीं और तब से लगातार सांसद हैं.

 

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY