पीसा की झुकी हुई मीनार के बारे में जानते हो, हमारे देश...

पीसा की झुकी हुई मीनार के बारे में जानते हो, हमारे देश के इस झुके हुए मंदिर के बारे में सुना है ?

0
SHARE

पीसा की झुकी हुई मीनार के बारे में तो आपने सुना ही होगा जिसे विश्व के आश्चर्यों में गिना जाता है. हो सकता है आप में से कईयों ने इसे पास से देखा भी हो. लेकिन क्या आप जानते हैं कि दुनिया में पीसा की मीनार ही अकेली झुकी हुई इमारत नहीं है. दुनिया में और भी कुछ इमारतें हैं जो अपने आधार से झुकी हुई हैं. इनमें से एक तो हमारे देश में ही है और वह स्थित है उड़ीसा में.

उड़ीसा में एक जिला है संबलपुर. यहाँ से 23 किलोमीटर दूर पर एक गाँव स्थित है जिसका नाम है हुमा. महानदी के तट पर स्थित इस गाँव में एक शिवमंदिर है जो झुका हुआ है.

Google Images

बताया जाता है कि श्री बिमलेश्वर मंदिर के नाम से जाने जाने वाले इस मंदिर का पुनर्निर्माण संबलपुर के चौहान वंश के राजा बलियार सिंह देव ने 1670 ई. में कराया था. इतिहासकारों के अनुसार मूल मंदिर का निर्माण गंगा वंशी राजा अनंगभीम देव – III ने कराया था. परिसर में स्थित अन्य मंदिरों का निर्माण राजा अजीत सिंह ने 18 सदी के उत्तरार्ध में कराया.

मंदिर को लेकर एक किवदंती भी प्रचलित है. कहते हैं कि जब यहाँ मंदिर नहीं था तब महानदी के उस पार चरने वाली गायों के समूह में एक गाय नदी पार करके इस स्थान पर स्थित एक पत्थर पर आकर दुग्ध की धार से अभिषेक किया करती थी. इस बात का पता जब गाय के मालिक चरवाहे को लगा तो वह भी नियमित रूप से वहाँ पूजन अर्चन करने लगा.

तत्कालीन राजा को जब यह बात पता चली तो उन्होंने यहाँ एक छोटा सा मंदिर बनवा दिया. बाद में राजा बलियार देव ने उस जगह पर अर्थात हुमा गाँव में यह मंदिर बनवाया.

मंदिर पथरीली जगह पर होने के बावजूद झुका हुआ है. इसके झुकने का कारण अभी तक पुरातत्वविदों को समझ में नहीं आया है.

(Source : Wikipedia)

 

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY