Home प्रेरक कहानियाँ (Motivational Stories) पटना नाव हादसे में तीन लड़कों ने अपनी जान पर खेलकर 15...

पटना नाव हादसे में तीन लड़कों ने अपनी जान पर खेलकर 15 लोगों की जान बचाई

0

किसी की जान बचाने से बड़ा पुण्य का काम संसार में कोई दूसरा नहीं और उस पर भी जब किसी की जान बचाने में अपनी जान का जोखिम हो तब इसकी महत्ता और बढ़ जाती है. लेकिन जिनके दिलों में इंसानियत जिंदा होती है, उन्हें जब भी मौका मिलता है वे अपनी जान की परवाह किये बिना कर्त्तव्य पथ पर बढ़ ही जाते हैं.

पटना में गंगा नदी में हुए नाव हादसे में अब तक 20 से अधिक लोगों की जान जा चुकी है.  इसी हादसे में फ़रिश्ते बन कर उभरे तीन लड़कों की आज पूरे देश में तारीफ़ हो रही है जिन्होंने अपनी जान पर खेलकर 15 लोगों को डूबने से बचाया.

छोटू, हिमांशु और मो. तनवीर

छोटू, हिमांशु और मो. तनवीर नाम के ये तीन युवक हादसे के वक़्त एक सरकारी नाव पर सवार होकर सामने दियारा की ओर जा रहे थे. एनआईटी घाट से नाव पर सवार हुए तीनों लड़कों ने जब देखा कि एक नाव डूब रही है और लोग बचाओ-बचाओ चिल्ला रहे हैं तो उन्होंने तमाशबीनों की तरह तमाशा देखने के बजाय तुरंत निर्णय लिया  और अपनी नाव डूबती हुई नाव की तरफ मोड़ दी.

नाव के पास आकर तीनों ही गंगा के ठन्डे पानी में कूद पड़े और  अपनी जान की परवाह न करते हुए एक- एक करके 15 डूबते हुए लोगों को पानी से खींच-खींच कर अपनी नाव में चढ़ाया.

तीनों बहादुर लड़कों के बारे में जब सोशल मीडिया में आया तो पूरे देश में उनकी भूरि-भूरि प्रशंसा हो रही है. ‘गुस्ताखी माफ़’ इन तीनों जांबाजों को दिल से नमन करता है और उज्जवल भविष्य के लिए शुभकामनाएं देता है.


(News : Bhaskar)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here