Home Life & Culture एक आदमी ने अपने घर के पिछवाड़े पूरी दुनिया बसा रखी है

एक आदमी ने अपने घर के पिछवाड़े पूरी दुनिया बसा रखी है

0

पिछली एक पोस्ट में हमने आपको एक ऐसे डाकिये के बारे में बताया था जिसे एक दिन घर लौटते समय रास्ते में कुछ पत्थर मिले जिन्हें वह घर ले आया. और फिर उस पर ऐसा जूनून सवार हुआ कि उसने अपनी बाकी ज़िन्दगी पत्थर चुन चुन कर लाने और उनसे एक आलिशान महल खड़ा करने में खपा दी. बहरहाल, आज हम आपको एक दूसरे आदमी के बारे में बताने जा रहे हैं जिसने अपने घर के पीछे स्थित झील में पूरी दुनिया का नक्शा बनाया हुआ है.

1943 में Soren Poulsen नामक डेनमार्क का एक किसान अपने घर के पीछे कुछ काम कर रहा था कि तभी उसकी नजर एक पत्थर पर पड़ी जो Jutland (उत्तरी यूरोप का एक उपद्वीप) के नक़्शे जैसा दिख रहा था. उस पत्थर को देखते ही Soren के दिमाग में विचार कौंधा कि क्यों न यहाँ एक दुनिया का नक्शा बनाया जाए. और बस, उन्होंने शुरुआत कर दी.

Soren के घर के पास एक झील थी जो सर्दियों में जम जाती थी. उन्होंने पत्थरों को तराश तराश कर जमी हुई झील पर सरकाते हुए दुनिया के नक़्शे का निर्माण आरम्भ किया. गर्मियां आईं तो पत्थर जहां के तहां सेट हो गए. बीच बीच में उन्होंने मिटटी और घास का इस्तेमाल करके अलग अलग देशों के नक़्शे बनाए.

Africa
Asia and Middle East

उनका ये दुनिया का नक्शा करीब 4000 वर्गमीटर में फैला हुआ है और बाकायदा नपा तुला है. इस नक़्शे में हर 11 इंच दूरी का मतलब है 69 मील. झील का पानी समुद्र को प्रदर्शित करता है और पत्थर, मिटटी और घास से देश बने हुए हैं. हालांकि Soren के नक़्शे में अंटार्टिका मौजूद नहीं है.

Australia and New Zealand

Italy
Americas

Soren ने दुनिया का ये नक्शा सिर्फ अपने शौक से लिए बनाया था. इसकी शुरुआत 1944 में हुई और 1969 में ये बनकर तैयार हुआ. लेकिन आज उनका ये नक्शा पर्यटकों के लिए आकर्षण का केंद्र बन गया है और हर साल हजारों लोग इसे देखने आते हैं.

(Source : Wikipedia)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here