भाई साहब ने प्लास्टिक की बोतलों से बना डाला महल

भाई साहब ने प्लास्टिक की बोतलों से बना डाला महल

0
SHARE

आज दुनियाभर में प्लास्टिक का कचरा सिर दर्द बना हुआ है हर देश की सरकारे कचरे के ढेरो से परेशान है । कई लाख टन प्लास्टिक हर साल समुद्र में चला जाता है। जिसकी वजह से समुद्र के जीवों की जान पर बन आई है बहुत सारे जीव थो अब विलुप्त हो गये है । अक्सर कई ऐसे मामले समाने आए हैं जब समुद्र के किनारे जीवों के शव मिलते हैं। जिनमें से कई की मौत का कारण ये प्लास्टिक का कचरा होता है। इस प्लास्टिक के कचरे में ज्यादातर प्लास्टिक बोलत का ही होता है।

इस समस्या से निजात पाने के लिए भी दुनियाभर में लोग कोई न कोई रास्ता तलाशने में लगे हुए हैं, प्लास्टिक की बोतलों को रिसाइकल करने के नए-नए तरीके खोज रहे हैं। लेकिन आज हम ऐसे शख्स के बारे में बता रहे हैं जिसने इस जानलेवा प्लास्टिक के कचरे को अनोखे तरीके से इस्तेमाल किया है। इस शख्स ने ना केवल कचरे से प्लास्टिक की बोतलों को साफ कर दिया बल्कि उसी प्लास्टिक बोतलों के कचरे से एक महल खड़ा कर दिया। आइए जानते हैं आखिर क्या है पूरा मामला।

सौजन्य इंस्टाग्राम:

दरअसल हम बात कर रहे हैं कनाडा, पनामा के ट्रॉपिकल में रहने वाले रॉबर्ट बजाऊ की। आपने दुनिया के बहुत से रिजॉर्ट के बारे में सुना होगा जो अपनी खासियत के लिए मशहूर हो गए है लेकिन आज हम आपको एक ऐसे रिजॉर्ट के बारे में बताने जा रहें है जिसके बारे में जानकर आप भी दंग रह जाएगें।

यह रिजॉर्ट ईंट या पत्थर से नहीं बल्कि प्लास्टिक की बोतलों से बना हुआ है। रॉबर्ट ने उन बोतलों को वेस्ट करने की बजाए उससे महल बना लिया है। इस रिजॉर्ट को हाल ही में बना कर तैयार किया गया है। हर साल प्रकृति के नजारों का मजा लेने के लिए इस जगह पर लाखों टूरिस्ट आते है।

इस महल को बनाने में कम से कम 40,000 पुरानी बोतलों का इस्तेमाल हुआ है। इसके बनाने का मकसद लोगों का कचरे की ओर ध्यान आकृषित करना है। रॉबर्ट बजाऊ करीब 9 साल पहले रिटायर होकर इस जगह पर आए थे। किसी प्रोग्राम के दौरान उनकी नजर वेस्ट प्लास्टिक पर पड़ी तो उन्हें यह आइडिया आ गया। उन्होने यहीं पर रहकर इस कचरे पर काम करने का फैसला किया।

 

(शिवम् दुबे )

 

 

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY