मकानमालिक हुआ किरायेदार पर मेहरबान और दे गया करोडो की दौलत

मकानमालिक हुआ किरायेदार पर मेहरबान और दे गया करोडो की दौलत

0
SHARE

आपने अक्सर किसी व्यक्ति के मरने के बाद उसकी जायजाद के लिए उसके बीवी-बच्चो को आपस में लड़ते और अदालत के चक्कर काटते हुए देखा होगा पर क्या आपने कभी ये सुना है कि कोई व्यक्ति मरने से पहले अपनी सारी दौलत अपने किरायेदार के नाम छोड़ गया हो.

सुनने में ये खबर आपको थोड़ी अटपटी जरुर लगेगी पर वेनफोर्ड हॉज (94 साल) नाम के शख्स ने अपनी वसीयत में अपनी 1.5 मिलियन डॉलर (लगभग 10 करोड़ रुपए) की सम्पति 42 सालों से साथ रह रही अपनी पत्नी जोआन थोम्पसन और बच्चो के नाम न करके अपने दो किराएदारो के नाम की और इस दुनिया को अलविदा कहा. जिसके बाद उसकी पत्नी को घर की बजाय नर्सिंग होम में रहने को मजबूर होना पड़ा.आखिर क्या थी वजह…

वसीयत के अनुसार हॉज का कहना था कि मेरे आखिरी पलो में दोनों किराएदारो ने मेरी बहुत सेवा की जबकि मेरी पत्नी और बच्चे उस बुरे वक़्त में मुझे अकेला छोड़कर चले गये.साथ ही उन्होंने अपनी पत्नी को आर्थिक रूप से सक्षम बताया और उसके बैंक अकाउंट में मात्र 2.5 डॉलर छोड़कर चले गए.किरायेदारो के लिए ये किसी लॉटरी से कम नही था.

डेलीमेल की खबर के अनुसार हालाँकि जब ये पूरा मामला अदालत पहुंचा तो जज ने हॉज की वसीयत को पलटते हुए उसकी पत्नी थोम्पसन को रहने के लिए 2.5 लाख डॉलर कीमत वाला घर और जीवन-यापन के लिए 1.9 डॉलर कैश देने का फैसला सुनाया.

 

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY