Home News 12 साल से गूंगे होने का नाटक कर रहा था, अब सचमुच...

12 साल से गूंगे होने का नाटक कर रहा था, अब सचमुच गूंगा हो गया

0

चीन से एक अजीबोगरीब खबर वायरल हुई है. पुलिस ने 12 साल से फरार एक हत्या के आरोपी को पकड़ा है जो अपनी पहचान छुपाकर और गूंगा बनकर रह रहा था. अब जब उसे पुलिस ने पकड़ा तो पता चला 12 साल से न बोलने के कारण वह सचमुच गूंगा हो चुका है.

ज्हेंग नामक इस आदमी पर आरोप है कि इसने 2005 में  500 युआन के लेनदेन के विवाद में अपनी पत्नी के चाचा का क़त्ल कर दिया था. क़त्ल करने के बाद वह घर छोड़कर भाग गया और 700 किलोमीटर दूर अन्हुई प्रान्त में जा पहुंचा. वहाँ उसने अपना नाम वांग गुई रख लिया और पेट पालने के लिए गूंगा भिखारी बनकर रहने लगा.

बाद में वह भीख माँगना छोड़ वहीं एक गाँव में सेटल हो गया. उसने दूसरी शादी कर ली और एक बच्चे का बाप भी बन गया. पर उसने अपना गूंगापना बरकरार रखा. यहाँ तक कि इन 12 सालों में वह अपनी पत्नी और बच्चे से एक शब्द भी नहीं बोला. गूंगा बने रहने के पीछे उसकी सोच थी कि वह जितना कम बोलेगा उसके गलती करने की सम्भावना उतनी ही कम होगी.

पर कहते हैं न कि अपराधी कितना भी होशियार हो, एक न एक दिन पुलिस के हत्थे चढ़ ही जाता है. ज्हेंग के साथ भी कुछ ऐसा ही हुआ. सरकार गाँव में कोई सर्वे करा रही थी और उस सर्वे के दौरान पुलिस को उस पर संदेह हो गया. दरअसल उसने अपना नाम तो वांग गुई रख लिया था पर उस नाम का उसके पास कोई पहचान पत्र नहीं मिला. फिर तो पुलिस उसे पकड़ ले गई.

उसका ब्लड सैंपल लेकर डीएनए जांच कराई गई तो पता चला कि यह वांग गुई नहीं, ज्हेंग है जो क़त्ल के मामले में वांछित है. पुलिस ने जांच की तो उसे पता चला कि ज्हेंग गूंगा नही था. लेकिन जब बुलवाने की कोशिश की गई तो वह सचमुच बोल नहीं पाया. डॉक्टर ने जांच कर के बताया कि इतने सालों तक न बोलने के कारण उसके स्वर तंतु बेकार हो चुके हैं. आखिरकार पुलिस के साथ उसका संवाद लिखकर करना पड़ा.

बहरहाल, ज्हेंग को क़त्ल की सजा तो मिलेगी ही, आवाज मुफ्त में ही चली गई.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here