Home News उसने बच्चे का अपहरण होने से बचाया, बदले में इनाम के बजाय...

उसने बच्चे का अपहरण होने से बचाया, बदले में इनाम के बजाय कंपनी ने छीन ली नौकरी

0
दुनिया का कोई भी देश हो, समाज हो, बहादुरी और सहयोग की भावना को हर जगह सम्मान मिलता है. लेकिन पोर्टलैंड के एक मॉल कर्मचारी को बहादुरी दिखाना और दूसरों की मदद करना भारी पड़ गया. जिस काम के लिए कंपनी को उसे इनाम देना चाहिए था, उसकी वजह से उसे नौकरी से निकाल दिया गया.
32 साल का Dillon Reagan उस दिन अपनी ड्यूटी पर था कि तभी उसने एक महिला को बदहवासी हालत में भागते और चिल्लाते देखा. वह मदद के लिए चिल्ला रही थी, “कोई मेरे बच्चे को बचाओ…. वो मेरे बच्चे को चुरा कर ले जा रहा है …. “.
ऐसी स्थिति में कोई भी वही करता जो रीगन ने किया. वह और उसका एक साथी तुरंत महिला की बताई दिशा में गए और साथ ही साथ पुलिस को भी फ़ोन कर दिया. पुलिस के आने तक वे अपहरणकर्ता का लगातार पीछा करते रहे और अंततः उसे पकडवा कर बच्चे को सुरक्षित मुक्त करा कर ले आये.

इस सबमें बमुश्किल 10 मिनट का समय लगा और रीगन और उसका साथी अपनी ड्यूटी वाली जगह पर लौट आये. अब होना तो ये चाहिए था कि कंपनी की ओर से उसे बहादुरी का इनाम या कम से कम शाबाशी मिलनी चाहिए थी, लेकिन रीगन को अगले दिन झटका लगा जब उसके सुपरवाइजर ने कहा कि, “तुमने ये गलत किया !”
इसके एक महीने बाद रीगन को कंपनी की ओर से एक पत्र मिला जिसमें उसे नौकरी से निकाल दिया गया था. कंपनी ने लिखा था कि उसने अपनी ड्यूटी छोड़कर पुलिस की मदद की, ये कंपनी की पालिसी का उल्लंघन है. लिहाजा उसे नौकरी से बर्खास्त किया जाता है.

लेकिन कंपनी, जिसका नाम ‘होम डिपो’ है, शायद ये भूल गई थी कि आज का ज़माना कुछ और है. जैसे ही खबर मीडिया में आई, कंपनी के ऊपर इतनी लानतें बरसीं, इतनी लानतें बरसीं, कि उनके होश ठिकाने आ गए और उन्होंने तुरंत अपना निर्णय रिवर्स कर लिया.
लेकिन अब रीगन सोच रहा है कि इस कंपनी में वापस जाया जाए या नहीं ?  आप होते तो क्या करते ?

(Source : BoredPanda)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here