मेरा दोस्त हीरा है

मेरा दोस्त हीरा है

1
SHARE

छगन को लड़की वाले देखने आये.

छगन थोडा नर्वस हो रहा था इसलिए उसने अपने दोस्त पप्पू को भी बुला लिया था.

लड़की के पिता ने पूछा – “बेटा शराब पीते हो ?”

छगन – “जी नहीं, शराब तो दूर की बात है मैं तो बीड़ी सिगरेट तक नहीं पीता !”

लड़की का बाप – “जुआ बगैरह खेलते हो ?”

छगन – “नहीं, मैंने तो कभी ताश को हाथ तक नहीं लगाया …”

लड़की का बाप – “बहुत अच्छा बेटा, एक बात और बताओ बस … किसी लड़की -वडकी से चक्कर तो नहीं है ?”

छगन – “जी नहीं …. मैंने आज तक किसी लड़की पर बुरी नजर नहीं डाली !”

लड़की का बाप अपने साथ आये आदमी से बोला – “लड़का तो सचमुच बहुत अच्छा है …. !”

यह सुनते ही छगन का दोस्त पप्पू बोला – “आप सही कह रहे हैं अंकल जी … एकाध छोटी-मोटी कमी को छोड़ दें तो मेरा दोस्त हीरा है हीरा !”

लड़की का बाप – “कमी ? कैसी कमी बेटा ?”

पप्पू – “कुछ ख़ास नहीं … बस इसे हर बात में झूठ बोलने की बुरी आदत है !!!”

 

*हर एक friend कमीना होता है*

 

1 COMMENT

LEAVE A REPLY