कभी सोचा है मील के पत्थर अलग-अलग रंगों में क्यों पुते होते...

कभी सोचा है मील के पत्थर अलग-अलग रंगों में क्यों पुते होते हैं, जानिये इनका मतलब

0
SHARE

सड़क यात्रा के दौरान आपने मील के पत्थर जरूर देखे होंगे. इन पत्थरों से ही हमें पता चलता है कि आगे आने वाला शहर या गाँव कितनी दूर है. अगर आपने ध्यान दिया हो तो देखा होगा कि इन पत्थरों के ऊपरी भाग अलग अलग रंगों से पुते होते हैं. कहीं पीला, कहीं हरा, कहीं काला तो कहीं लाल. कभी सोचा है कि आखिर इन्हें अलग अलग रंगों से पोते जाने का मतलब क्या है ? दरअसल ये रंग आपको सड़क के बारे में जानकारी देते हैं. आइये जानते हैं कि इन अलग अलग रंगों का मतलब क्या होता है.

1. पीला रंग

यदि आप किसी ऐसी सड़क से गुजर रहे हैं जिसके मील के पत्थरों का ऊपरी भाग पीले रंग से पुता हुआ है तो इसका मतलब है कि आप राष्ट्रीय राजमार्ग (National Highway) से गुजर रहे हैं.

2. हरा रंग

यदि आपको सड़क पर हरे रंग के मील के पत्थर दिखाई दे रहे हैं तो जान लीजिये कि आप किसी स्टेट हाईवे से गुजर रहे हैं.

3. काला रंग

ऊपर की ओर काले रंग से पुते हुए पत्थर दिखाई दें तो समझ जाइए कि आप किसी ऐसी सड़क पर हैं जिसकी देखरेख का जिम्मा नगर या जिला प्रशासन का है.

4. लाल या नारंगी रंग

ऊपर की ओर लाल या नारंगी रंग से पुता मील का पत्थर बताता है कि यह एक ग्रामीण सड़क है. ये सड़कें प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के अंतर्गत बनाई जाती हैं.

तो अब आप समझ गए कि मील का पत्थर सिर्फ दूरी ही नहीं, सड़क के बारे में भी बताता है.

अब देख डालिए ये मजेदार वीडियो –

(Images : TopYaps)

 

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY