दुनिया के 7 शहर, जिनमें सिर्फ एक एक आदमी ही रहता है

दुनिया के 7 शहर, जिनमें सिर्फ एक एक आदमी ही रहता है

0
SHARE

मनुष्य एक सामाजिक प्राणी है इसीलिए वह समूह के साथ रहना पसंद करता है. इंसान यदि घर में भी कभी अकेला रह जाए तो वहां भी उसका मन नहीं लगता लेकिन आपको जानकर आश्चर्य होगा कि दुनिया में कुछ शहर ऐसे भी हैं जिनमें सिर्फ एक एक आदमी ही रहता है.

आइये आपको बताते हैं 7 ऐसे ही शहरों के बारे में …

#1 तोमिओका, जापान

2011 में जब तक विनाशकारी सुनामी नहीं आई थी, ये जापानी शहर पूरी तरह से आबाद था और इसकी आबादी 15 हजार थी. सुनामी आने के बाद फुकुशिमा दाइची न्यूक्लियर प्लान्ट से रिसाव होने लगा जिसके चलते रेडिएशन फैला, जिसकी जद में तोमिओका भी आ गया.
रेडिएशन के डर से सारे लोग यहां से भाग गए, सिर्फ 58 साल के नाओतो मत्सुमुरा रह गए. उन्होंने जाने से इनकार कर दिया, क्योंकि वे शहर में छूट गए जानवरों के लिए खाने का इंतजाम करना चाहते थे.

#2 मोनोवी, अमेरिका

मोनोवी, नेब्रास्का अमेरिका में है. बेहतर जॉब और स्थायित्व की तलाश में ये क़स्बा भी लोग छोड़ छोड़  कर चले गए. सिर्फ एक आखरी कपल यहाँ रहता था जिसमें से भी 2004 में पति की मृत्यु हो गई. अब इस कसबे सिर्फ एक महिला रहती है जो कि यहाँ की मेयर भी हैं.

#3 विला इपेक्युएन, अर्जेंटीना

अर्जेंटीना के ब्यूनस आयर्स प्रांत में यह क़स्बा 1920 में बसा था. 1985 में भीषण बाढ़ आई और सबकुछ तबाह हो गया. सारे लोग इस कसबे को छोड़ कर चले गए. फिर 2009 में पाब्लो नोवाक नामक एक शख्स इस शहर में लौटा जिसका जन्म इसी शहर में 1930 में हुआ था. इनके ऊपर पाब्लोज विला नामक एक डाक्यूमेंट्री भी बन चुकी है.

#4 बोनांजा, कोलोराडो (अमेरिका)

चांदी की खदानों वाला ये छोटा सा क़स्बा 1880 में आबाद हुआ था, तब इसकी आबादी करीब डेढ़ हजार थी. जैसे जैसे चांदी का उत्खनन कम होता गया, लोग शहर छोड़छोड़ कर जाने लगे. 2010 में इसकी आबादी मात्र 16 रह गई थी. अब इसकी आबादी कई बार 1 रह जाती है जोकि कभी कभार घूमने आये लोगों के आने से बढ़ जाती है.

#5 ब्यूफोर्ड (व्योमिंग, अमेरिका)

1886 में इस शहर को रेलवे लाइन बिछाने वाने मजदूरों के आराम स्थल के रूप में बसाया गया था. उस समय यहां दो हजार के आसपास लोग रहते थे. फिर धीरे-धीरे लोग शहर छोड़कर जाने लगे. 2013 में सरकार ने यह शहर एक वियतनामी को बेच दिया था, जिसके बाद इसका नाम बदलकर फिलडेली टाउन ब्यूफोर्ड कर दिया गया.
फिलहाल यहां के एकमात्र निवासी हैं डॉन सैमंस. वे 1980 में यहां आकर बसे थे. 1995 में उनकी पत्नी की मृत्यु हो गई और 2007 में उनका बेटा दूसरे शहर चला गया.

#6 कास, न्यूज़ीलैण्ड

1910 में जब यह क़स्बा बसाया गया था तब इसकी आबादी 800 थी. लोगों के पलायन के कारण फिलहाल यहाँ सिर्फ 5 घर बचे हैं और रहने वाला सिर्फ एक व्यक्ति है जिसका नाम है बैरी ड्रमांड. बैरी रेलवे के कर्मचारी हैं जो रेलवे के कास सेक्शन की देखरेख की जिम्मेदारी उठाते हैं.

#7 लॉस्ट स्प्रिंग्स, व्योमिंग, अमेरिका

इस कसबे में एकमात्र महिला रहती है जोकि यहाँ की मेयर है. हालांकि कभी कभार दो चार लोग यहाँ अस्थाई तौर पर रहने आते रहते हैं. कभी यहाँ 200 लोग रहा करते थे. इस टाउन के नक़्शे में झरना दिखाया गया था लेकिन असलियत में यहाँ कोई झरना है ही नहीं. इसीलिए इस कसबे का नाम लॉस्ट स्प्रिंग्स रखा गया था.

(Source : Bhaskar)

 

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY