नेक इंसान

नेक इंसान

1
SHARE

छगन एक बस में सफ़र कर रहा था.

तभी साथ वाले मुसाफिर ने बीडी जलाई और धुंआ छगन की ओर छोड़ दिया. छगन कुछ नहीं बोला.

अचानक खिड़की से आई तेज़ हवा के कारण बीडी से एक चिंगारी निकली और छगन  की नई कमीज़ जल गयी.

छगन फिर भी शांत रहा.

ये सब देख कर मुसाफिर को शर्म आ गई और सोचा, कितना सब्र वाला नेक इंसान है.

माफ़ी मांगने के अंदाज़ में मुसाफिर ने पूछा- “किस गाँव के हो भाई ??

छगन: “क्यों … अब क्या मेरे गाँव को भी फूंकने का इरादा है ?”

 

1 COMMENT

LEAVE A REPLY