Home News सालों याद की जायेगी दिनेश कार्तिक की ये पारी

सालों याद की जायेगी दिनेश कार्तिक की ये पारी

0

कल निदाहास ट्राफी में यादगार पारी खेल कर दिनेश कार्तिक ने अपने आपको क्रिकेट के इतिहास में अमर कर लिया है. यूं तो वे एक लम्बे अरसे से क्रिकेट खेल रहे हैं लेकिन कल उनके द्वारा खेली गई पारी एक ऐसी पारी है जिसे कभी भुलाया नहीं जा सकेगा.

मात्र 2 ओवर बचे थे और टीम इंडिया के हाथ से मैच लगभग फिसल चुका था तब कृष्ण कुमार दिनेश कार्तिक ने क्रीज पर कदम रखा और उसके बाद जो हुआ वह विश्वास करने योग्य नहीं था. आखिरी दो ओवरों में 34 रनों की जरूरत थी और ऐसा कम ही होता है कि ऐसे हालात में कोई टीम मैच निकाल ले जाए.

लेकिन कहते हैं न की क्रिकेट अनिश्चितताओं का खेल है और दिनेश कार्तिक ने एक बार फिर यह सिद्ध कर दिया. बांग्लादेश ने अपने सबसे अच्छे गेंदबाज़ रूबेल हुसैन को गेंद थमाई और फिर दिनेश कार्तिक ने दिखाया वह कमाल जिसने भारतीय दर्शकों को खुश कर दिया.

पहली गेंद पर छक्का, दूसरी पर चौका और तीसरी पर फिर छक्का. चौथी गेंद पर चूक गए लेकिन अगली गेंद पर फिर दो रन और आखिरी पर चौका. एक ही ओवर में 22 रन लेकर उन्होंने बांग्लादेशियों के चेहरों पर हवाइयां उड़ा दीं.

अब ओवर बचा था 1 और भारत को जीतने के लिए चाहिए थे 12 रन. गेंद सौम्य सरकार के हाथों में थी जिन्होंने पहली गेंद वाइड फेंकी और अगली तीन गेंदों में दिया सिर्फ 1 रन. चौथी गेंद पर विजयशंकर ने चौका जड़ा और पांचवीं पर वे कैच आउट हो गए.

अब गेंद बची थी 1 और रन चाहिए थे 5. सामने थे दिनेश कार्तिक. पवेलियन में बैठे रोहित शर्मा पैड बाँधने लगे क्योंकि उन्हें लगा कि दिनेश ज्यादा से ज्यादा चौका लगा पायेंगे और फिर बराबरी की स्थिति में सुपर ओवर खेलना होगा. पर यहीं दिनेश कार्तिक ने चमत्कार किया. उन्होंने उस आखिरी गेंद पर सीधा छक्का जड़ दिया और भारत मैच जीत गया.

मात्र 8 गेंदें खेलीं दिनेश कार्तिक ने और रन बनाए 29. इस शानदार प्रदर्शन के लिए उन्हें मैन ऑफ़ द मैच चुना गया. और एक मजे की बात आपको बताएं. निदाहास ट्राफी में एक भी मैच में दिनेश कार्तिक को कोई आउट नहीं कर पाया. पांच पारियां खेलीं और हर बार नाबाद रहे. जय हो !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here