सुप्रीम कोर्ट ने रखी निर्भया कांड के चारो दोषियों की फाँसी की...

सुप्रीम कोर्ट ने रखी निर्भया कांड के चारो दोषियों की फाँसी की सजा बरकरार, वकील ने बताया मानवाधिकारों का हनन

0
SHARE

आज सुप्रीम कोर्ट ने कठोर निर्णय लेते हुए बहुचर्चित निर्भया काण्ड में चारों अभियुक्तों की फांसी की सजा को बरकरार रखे जाने का फैसला किया. सुप्रीम कोर्ट ने चारों दोषियों अक्षय ठाकुर, पवन गुप्ता, मुकेश सिंह और विनय शर्मा को फांसी की सजा बरकरार रखते हुए कहा कि समाज में संदेश देना बहुत जरूरी था.

दिसम्बर 2012 में दिल्ली में चलती बस में हुए इस जघन्य काण्ड ने देश को हिला कर रख दिया था. इस फैसले के बाद निर्भया की मां ने कहा कि उन्हें इस फैसले से खुशी हुई है. कानून के राज में देर है, लेकिन अंधेर नहीं. ये फैसला सिर्फ हमारे लिए नहीं बल्कि पूरे समाज के लिए है. मैं पूरे समाज और न्यायलय की आभारी हूं.

IndianExpress

उधर बचाव पक्ष इस फैसले से असंतुष्ट नजर आया. दोषियों के वकील एपी सिंह ने कहा कि समाज में सन्देश देने के लिए किसी को फाँसी नहीं दे सकते. इस फैसले से ह्यूमन राइट्स की धज्जियां उड़ गईं हैं. उन्होंने ये भी कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने ये फैसला जनता के दवाब में लिया है. हम फैसले की कॉपी पढ़ने के बाद रिव्यु पिटीशन दाखिल करेंगे.

ज्ञातव्य है कि 2014 में दिल्ली हाई कोर्ट ने भी इन्हें मौत की सजा सुनाई थी. हाई कोर्ट ने निचली कोर्ट से मिली फांसी की सजा बरकरार रखी थी जिसे चारों दोषियों ने सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी थी.

 

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY