तुर्कमेनिस्तान में काले रंग की कारें हुईं बैन, क्योंकि राष्ट्रपति जी को...

तुर्कमेनिस्तान में काले रंग की कारें हुईं बैन, क्योंकि राष्ट्रपति जी को काला रंग पसंद नहीं है

0
SHARE

अगर आप तानाशाह के रूप में सिर्फ किम जोंग उन का ही नाम जानते हैं तो आप गलत हैं. दुनिया में और भी तानाशाह हैं और उनके फैसले भी उतने ही अजीब हैं. मध्य एशियाई देश तुर्कमेनिस्तान के तानाशाह का एक अजीबोगरीब फैसला इन दिनों अंतर्राष्ट्रीय मीडिया की सुर्खियाँ बना हुआ है.

नए साल के उपलक्ष्य में तुर्कमेनिस्तान की राजधानी Ashgabat के निवासियों को एक अजीबोगरीब तोहफा मिला. वहाँ की पुलिस ने अचानक से शहर में जितनी भी काली या गहरे रंग की कारें थीं, उन्हें उठाना शुरू कर दिया. बिना किसी घोषणा या चेतावनी के ये सारी कारें सरकारी पार्किंग लॉट में जमा की जाने लगीं.

पहले तो लोगों को समझ में नहीं आया कि ये हो क्या रहा है. फिर आखिर जब लोग अपनी कारों को छुडाने के लिए पहुंचे तो वहाँ उनसे एक सहमति पत्र लिया गया कि वे अपनी कार को सफ़ेद या किसी हलके रंग में पैंट करवा लेंगे. पता चला कि राजधानी में काले या गहरे रंग की कारें बैन कर दी गई हैं.

क्योंकि राष्ट्रपति जी को सफ़ेद और हलके रंग ही पसंद हैं.

वैसे तुर्कमेनिस्तान में काली, लाल और गहरे नीले रंग की कारों का आयात 2015 से ही बंद है. लेकिन अब राजधानी में पूरी तरह से बैन कर दी गई हैं.

तुर्कमेनिस्तान के वर्तमान राष्ट्रपति Gurbanguly Berdimukhamedow हैं    जो 2007  से इस पद पर काबिज़ हैं. 2007 से पहले वे तत्कालीन राष्ट्रपति के डेंटिस्ट हुआ करते थे.

(Source : TOM)

 

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY