ये बहादुरी है या बेवकूफी ?

ये बहादुरी है या बेवकूफी ?

13
SHARE

पटरियों के बीच में लेटकर ट्रेन को अपने ऊपर से गुजरने देना कम से कम शाबाशी देने लायक कारनामा तो नहीं कहा जा सकता. इस वीडियो में एक लड़का कुछ यही सब करके खुशी का अनुभव कर रहा है. आप इसे क्या कहेंगे – बहादुरी या बेवकूफी ?

 

13 COMMENTS

  1. गुनी लोग दुःख पाते है, गुणहीन मोज करते है
    तोते पिंजरे में कैद रहते है, कोए उड़ते फिरते है

  2. ज़िन्दगी से दुखी होगा ! मर गया तो बेवकूफ और बच गया तो बहादुर,,,,,,

LEAVE A REPLY