शौच जाने के जुर्म में गिरफ्तार

शौच जाने के जुर्म में गिरफ्तार

29
SHARE

बुलावायो (जिम्बाब्वे) का एक पुलिसवाला शौच जाने के  जुर्म में  गिरफ्तार कर लिया गया है.  जी नहीं … ! जिम्बाब्वे में पुलिसवालों के शौच जाने पर कोई पाबन्दी नहीं है. उसे तो इसलिए गिरफ्तार किया गया है कि उसने शौच जाने के लिए जो शौचालय इस्तेमाल किया वह  जिम्बाब्वे के राष्ट्रपति  के लिए आरक्षित था.

अलोइस मभुनु नामक यह पुलिस सार्जेंट अंतर्राष्ट्रीय व्यापार मेले में ड्यूटी पर था कि तभी उसे पेट में गडबड महसूस हुई.  कुछ ही देर में प्राकृतिक दवाब झेलना जब असंभव हो गया तो उसने निवृत होने के लिए पास ही बने वीआईपी टॉयलेट की ओर दौड़ लगा दी.  तात्कालिक राहत तो उसे मिल गई पर  साथ ही वीआईपी टॉयलेट, जोकि राष्ट्रपति के लिए बनाया गया था, का इस्तेमाल करने के जुर्म में गिरफ्तार भी कर लिया गया.

अब भला बताइये, बेचारे अलोइस की कोई गलती है ?

——————————————————————————————————-
(Based on Media reports, 29-05-11)

 

29 COMMENTS

  1. इसमें पुलिसवाले की क्या गलती थीं भाई वो तो अपने पेट की आग बुझा रहा था

  2. पुलिस को उसकी प्रॉब्लम फिल करनी की सोचनी ही , क्या वह आदमी नहीं था, क्या RASTYAPATI आदमीं नहीं है, अगर वह उस आदमी की जगह होता तो वह भी वाही करता जो उस पुलिस वाले ने किया,

  3. राष्ट्रपति भी तो इन्सान ही है न
    वही लोग इन्सान की कदर नहीं करेंगे तो कौन KAREGA
    आखिर उशी इन्सान से ही तो वो राष्ट्रपति बने है
    इसलियइ उनको हर लोगो को अपने ही तरह समझाना CHAHIYA

  4. क्या राष्टरपति है जो की दुसरो की तकलीफ नहीं समझ सकता उसे तो गिरिफ्तर क्या पर उसे रास्टरपति की कुरसे से उतर देना च

  5. सालो सही जोक्स बताया करो राष्ट्रपति की क्या कोई स्पेशल टट्टी हे तुम क्या सबको टट्टी करने से रोकोगे

  6. this is not fair ये गलत बात हे राष्ट्रपति को उस पुलिश वाले की filling को समझना चाहिए था

LEAVE A REPLY