चोरी करने नहीं, टीवी देखने आया था

चोरी करने नहीं, टीवी देखने आया था

11
SHARE

तुलसी बाबा सच ही कह गए हैं –  “तुलसी या संसार में भांति-भांति के लोग.”  अब इन महाशय को ही ले लीजिए. अमेरिका के ऑरेगोन के रहने वाले इन महाशय का नाम  जेसन है. उम्र है बत्तीस साल.

एक दिन मनोरंजन करने का मन हुआ तो किसी और के घर में कूद गए. आराम से सोफे पर पसर कर टीवी देख रहे थे कि तभी घर के मालिक लोग आ गए. उन्होंने चोर समझकर पहले तो खूब धुनाई की फिर पुलिस के हवाले कर दिया.

अब जेसन महाशय ने पुलिस को बयान दिया है वे उस घर में चोरी करने के लिए नहीं आये थे. उन्हें तो बस टीवी देखनी थी. भला ये भी कोई बात हुई ?

अभी कुछ दिनों पहले इसी तरह की एक और घटना में एक आदमी को किसी दूसरे के सूने घर से आराम से बेडरूम में सोते हुए पकड़ा गया था. उसने भी कहा था कि वह तो बस नहाने और सोने के लिए आया था ….चोरी करने के लिए नहीं … !

———————————————————————————————————–
(Based on Media Reports, 04/11/11)

 

11 COMMENTS

  1. Koshish Kro Ki Koi Tum Se Na Roothe,
    Zindagi Me Apno Ka Saath Na Choote,
    Rishta Koi Ve Ho Use Aise Nibhao,
    Ki Us Rishtey Ki Dor Zindagi Bhar Na Toote

  2. इ मिस उ एवेरी टाइम
    स्मिले, स्मिले अ लोट बेकोज़ इट्स कास्ट नोथिंग……………..

  3. एक बार एक अंग्रेज हिन्दुस्तान में आया उसने एक दुकानदार से कहा कि मुझे आप हिंदी सिखाओ। मैं आपके यहां नौकरी करूंगा। उसने कहा मेरे पास एक सेब की दुकान है। यहां जो भी ग्राहक आता है वो तीन चीजें बोलता है।

    पहली: सेब क्या भाव है?

    दूसरी: कुछ खराब हैं?

    तीसरी: मुझे नहीं लेने।

    इसके बाद अंग्रेज को बताया इनके जवाब में उसको बोलना है तीस रूपए किलो। फिर कहना है कुछ-कुछ खराब हैं और जब ग्राहक जाने लगे तो कहना तुम नहीं ले जाओगे तो कोई और ले जाएगा।

    थोड़ी देर बाद दुकान पर एक लड़की आई। उसने पूछा: रेलवे स्टेशन जाने को कौन सा रास्ता है? अंग्रेज ने कहा तीस रूपए किलो। लड़की ने कहा: तेरा दिमाग खराब है क्या? अंग्रेज ने कहा कुछ-कुछ खराब है। लड़की ने कहा: तुझे थाने लेकर जाना पड़ेगा। अंग्रेज ने कहा: तुम नहीं ले जाओगे तो कोई और ले जाएगा। हम तो खड़े ही है इस काम के लिए।

  4. इन्सां के अन्दर जज्बात होने चाहिए हिम्मत तो अपने आप आ ही जाती है

  5. जिंदगी में जीना है तो जीने का अंदाज जरोरी है. कितना भी गम हो दिल में होठों पे मुस्कान जरोरी है.

LEAVE A REPLY