ग्राहक ने कुछ इस अंदाज़ में की शिकायत कि OLA ने उसके...

ग्राहक ने कुछ इस अंदाज़ में की शिकायत कि OLA ने उसके घर भिजवाये दो समोसे

0
SHARE

शहरी जीवन में ओला और उबर जैसी टैक्सी सेवायें बहुत आम हो गई हैं. सिर्फ एक मोबाइल एप के जरिये कहीं भी टैक्सी बुला लेना एक ऐसी सुविधा है जिसने शहरों में भागदौड़ को बहुत आसान बना दिया है. लेकिन कभी कभी इन सेवाओं में भी परेशानियां आ ही जाती हैं.

बीते दिनों दिल्ली में एक मजेदार वाकया हुआ. दरअसल इन सर्विसेज का नियम है कि एक बार बुकिंग कन्फर्म होने के बाद यदि कैंसिल होती है तो ग्राहक को कैंसलेशन चार्ज देना पड़ता है. पर यदि बुकिंग ड्राईवर की तरफ से कैंसिल होती है तो ग्राहक को कोई चार्ज नहीं देना होता.

Livemint

इस मामले में कुछ ऐसा ही हुआ कि बुकिंग ड्राईवर ने कैंसिल की और चार्ज ग्राहक पर लगा दिया गया. अभिषेक अस्थाना नामक इस ग्राहक ने अपने साथ हुई इस नाइंसाफी का बड़े मजेदार अंदाज़ में ट्विटर पर हाल बयान किया.

उन्होंने लिखा, ‘कल, ओला ड्राईवर द्वारा कैंसिल किये जाने के बाद भी मेरे ऊपर कैंसलेशन चार्ज लगाया गया. ये कुछ वैसा ही है जैसे कि आप दुकानदार से पूछे कि समोसा है ? दुकानदार कहे कि नहीं है और 10 रुपये भी ले ले.”

अभिषेक, जो कि Gabbar Singh के नाम से ट्विटर हैंडल चलाते हैं, का ये ट्वीट लोगों ने कई बार रिट्वीट किया और इस पर ढेर सारे कमेंट भी आये. इसकी खबर जब OLA कंपनी तक पहुंची तो उन्होंने तुरंत चार्ज  वापस लिया और ट्वीट किया, ‘चार्ज वापस ले लिया गया है. अब बताइये कि हमें समोसे कहाँ भिजवाने हैं ?’

मजे की बात देखिये, कि कंपनी सिर्फ ट्वीट करके ही नहीं रुकी, उसने बाकायदा एक माफीनामा नोट के साथ दो समोसे अस्थाना के घर भिजवा दिए. इस बात की पुष्टि खुद अस्थाना ने ट्वीट करके की.

कभी कभी आपका सेंस ऑफ़ ह्यूमर वह काम आसानी से करा देता है जिसे आप आँखे दिखा कर नहीं करा सकते.

 

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY