अब गधे बनायेंगे चीन और पाकिस्तान के रिश्तों को और मजबूत

अब गधे बनायेंगे चीन और पाकिस्तान के रिश्तों को और मजबूत

0
SHARE

यदि आप गधों को अंडरएस्टीमेट करते हैं तो अपनी भूल सुधार लीजिये, क्योंकि गधे अब राष्ट्रीय स्तर से ऊपर उठकर अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर अपनी भूमिका निभाने जा रहे हैं. आपको याद होगा यूपी चुनाव के दौरान कैसे गधों ने राजनीतिक भूचाल ला दिया था. लेकिन अब तो वे और भी ऊपर उठकर दो देशों के बीच के सम्बन्धों को  और भी मजबूती प्रदान करने जा रहे हैं.

दरअसल पाकिस्तान ने चीन के साथ रिश्तों को और प्रगाढ़ करने के लिए गधों को ध्यान में रखकर एक नया बिजनेस प्लान बनाया है जिसके तहत वह चीन को पाकिस्तानी गधे बेचेगा. पाकिस्तान की इस योजना का नाम ‘खैबर पख्तूनवा चाइना सस्टेनेबल डंकी डेवलपमेंट प्रोग्राम’ रखा गया है.

पाकिस्तान के खैबर पख्तूनवा में काफी तादाद में गधे पाए जाते हैं. इस योजना के तहत चीन को गधे बेचे जाएंगे और चीन में उनकी ब्रीडिंग में मदद की जाएगी.

चीन में गधों की काफी मांग है क्योंकि उसके चमड़े से जिलेटिन मिलती है, जिसे महंगी दवाओं में प्रयोग किया जाता है. इसी कारण हर साल चीन से 3 लाख गधे कम होते जा रहे हैं. 1990 के दशक में चीन में एक करोड़ 10 लाख गधे थे जिनकी संख्या लगातार घटती जा रही है.

गधों को बेचकर पाकिस्तान को भी अच्छे मुनाफे की उम्मीद है. गधे की एक खाल से पाकिस्तान को करीब 20 हजार रुपये तक मिलने की उम्मीद है. ‘खैबर पख्तूनवा चाइना सस्टेनेबल डंकी डेवलपमेंट प्रोग्राम’ के तहत पाकिस्तान अपने यहां गधों की आबादी बढ़ाएगा ताकि चीन को निर्यात में कोई कमी न हो. इससे स्थानीय लोगों की भी आर्थिक    स्थिति मजबूत होगी.

तो भैया, आगे से गधों को हलके में न लें !

 

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY