Home Life & Culture कभी बीनती थीं कचरा, आज टर्नओवर है करोड़ों में

कभी बीनती थीं कचरा, आज टर्नओवर है करोड़ों में

0

दुनिया में फर्श से अर्श तक का सफर तय करने वाले कई लोगों की कहानियां मौजूद हैं. अब उन्हीं नामों में एक नाम जुड़ गया है अहमदाबाद की 60 वर्षीया मंजुला वाघेला का.

ragpicker-crorepati-1

किसी जमाने में कचरा बीन कर रोजाना दस – पांच रुपये की कमाई पर गुजारा करने वाली मंजुला वाघेला की कोआपरेटिव संस्था का टर्नओवर आज करोड़ों में है. इतना ही नहीं, उनकी इस संस्था में लगभग 400 लोगों को रोजगार मिला हुआ है.

ragpicker-crorepati-2

इलाबेन भट्ट् की संस्था ‘सेल्फ एंप्लॉयड वुमेन्स एसोसिएशन’ (SEWA) के संपर्क में आने के बाद मंजुला ने सफाई संस्था ‘सौंदर्य मंडली’ बनाई जिससे शुरू में 40 महिलायें जुडीं. यह संस्था कंपनियों एवं संस्थानों को सफाई कार्य की सेवा मुहैया कराती थी. फिर मंजुला ने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा और एक दिन ‘श्रीसौन्दर्य सफाई उत्कर्ष सहकारी मंडली लिमिटेड’ की स्थापना हुई.

आज मंजुला वाघेला इस कोआपरेटिव संस्था की प्रमुख हैं जिसमें लगभग 400 सदस्य काम करते हैं. आज वे लगभग 45 संस्थानों व सोसाइटीज को सफाई की सेवा उपलब्ध कराते हैं. उनकी इस संस्था का सालाना टर्नओवर 1 करोड़ रुपये है.

ragpicker-crorepati-4

मंजुला ने अपने बेटे को भी अच्छी शिक्षा दिलाई है और आज वह एक डॉक्टर है.

Source : topyaps

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here