सादगी तो कोई राहुल द्रविड़ से सीखे, इस तस्वीर में है एक...

सादगी तो कोई राहुल द्रविड़ से सीखे, इस तस्वीर में है एक ख़ास बात

0
SHARE

वीआईपी कल्चर वह बीमारी है जिससे भारत का वीआईपी तो ग्रसित है ही, आम आदमी भी इसका शिकार है. वह भी जहां मौका लगे वहाँ खुद के लिए वीआईपी ट्रीटमेंट के जुगाड़ तलाशता रहता है. अगर शहर में कवि सम्मलेन भी हो रहा हो तो उसके लिए हमने अपने आसपास के कई लोगों को वीआईपी पास की जुगाड़ करते देखा है ताकि वीआईपी गेट से घुस सकें और उनके बीच आगे बैठ सकें.

राहुल द्रविड़ की एक तस्वीर सोशल मीडिया में वायरल हो गई है. इस तस्वीर में वे एक साइंस एक्जीविशन देखने के लिए अपने बच्चों के साथ लाइन में लगे नजर आ रहे हैं. बिलकुल किसी आम पिता की तरह. देखिये ये तस्वीर –

अब ऐसा नहीं है कि राहुल ने क्रिकेट छोड़ दी है तो दुनिया उन्हें भूल गई है या फिर वे आम आदमियों की श्रेणी में आ गए हैं. ऐसा बिलकुल नहीं है. भारतीय क्रिकेट में उनका इतना बड़ा योगदान है कि उनकी बराबरी का खिलाड़ी पैदा होना मुश्किल है. वे आज भी इतने बड़े वीआईपी हैं कि कहीं भी अपने रसूख का बड़ी आसानी से इस्तेमाल कर सकते हैं.

लेकिन वे ऐसा करते नहीं हैं. यही तो उनकी विनम्रता है जो उन्हें एक अच्छे खिलाड़ी से भी ऊपर एक बेहतर इंसान साबित करती है. उनकी ये तस्वीर सोशल मीडिया में इतनी पॉपुलर हुई है कि इसे 12 हजार से ज्यादा लाइक्स मिले हैं और 6 हजार से ज्यादा बार रिट्वीट किया जा चुका है.

 

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY