Home Life & Culture रेड कारपेट क्या है और क्यों बिछाया जाता है, जानिए इसका इतिहास

रेड कारपेट क्या है और क्यों बिछाया जाता है, जानिए इसका इतिहास

0

आपने देखा होगा कि हॉलीवुड हो या बॉलीवुड, कोई भी बड़ा समारोह हो, अवार्ड सेरेमनी हो, स्टार जगमगाते हुए  रेड कारपेट पर शिरकत करते हुए नज़र आते हैं. रेड कारपेट पर चलना, सितारों की बुलंद शोहरत, उनके ख़ास स्टाइल आदि को दर्शाता है. इसके चमक-दमक और ग्लैमर से भी जोड़कर देखा जाए तो ऑस्कर अवॉर्ड समारोह हों या फिर बॉलीवुड फ़िल्म समारोह, रेड कारपेट पर चलते सितारे, बाक़ी दुनिया से बिल्कुल अलग अंदाज में नज़र आते हैं. सिर्फ फ़िल्मी दुनिया में ही नहीं, बाकी अवसरों पर भी होने वाले समारोहों में रेड कारपेट बिछाया जाता है.

क्या आपने कभी सोचा है कि आखिर रेड कारपेट की शुरुआत कैसे और कब हुई और आखिर इसे लाल कलर में ही क्यों रखा जाता है ?

Photo : Lalive

आपको बता दे कि रेड कारपेट, साधारण लोगो के लिए नहीं है. ये हमेशा से ख़ास लोगों के लिए ही बिछाया जाता है. इसका सबसे पुराना ज़िक्र मिलता है यूनानी नाटक अगामेमनॉन में. दुख भरे क़िस्से लिखने वाले ग्रीक नाटककार ‘एसकाइलस’ के इस मशहूर नाटक में जब ग्रीक राजा अगामेमनॉन, ट्रॉय का युद्ध जीतकर अपने देश लौटकर आते है तब उनकी पत्नी महारानी क्लायटेमनेस्ट्रा अपने पति के स्वागत में  रेड कारपेट बिछाती है. परन्तु उनके पति के युद्ध जीतने के बाद भी  उस रेड कारपेट पर चलते हुए कदम लड़खड़ाते हैं. वो कहते है कि ये सुर्ख रास्ता तो सिर्फ देवों के लिए होता है. मै तो सिर्फ एक छोटा सा इंसान हू तो मै इस चमचमाते हुए रास्ते पर कैसे चल सकता हूँ. आख़िरकार  उसका डर सही साबित होता है और अगामेमनॉन को उसकी पत्नी बहुत जल्द ही अपने प्रेमी  की मदद से मौत के घाट उतार देती है.

Photo : Ibtimes

हालिया परंपरा की बात करें इसकी शुरुआत वर्ष 1922 में हुई थी जो कि Sid Grauman द्वारा की गई थी. इसमें एक थियेटर में बड़े-2 फ़िल्मी सितारों के लिए लाल कलर का कालीन बिछाया गया था. इस कालीन पर सभी फ़िल्मी सितारों ने अलग- 2 और नई-2  ड्रेस पहनकर अपने जलवे दिखाए थे. कहा जाता है कि यह पहली बार हुआ था कि किसी फिल्म के प्रीमियर के समय रेड कार्पेट का इस्तेमाल किया गया था. इसी कारण पहली बार से लेकर आज तक यह सिलसिला निरंतर जारी हैं और इसे आज ज्यादातर बड़े- 2 समारोहों में बिछाया जाता है.

Photo : Animalia

इतिहास की बात करें तो इसकी सर्वप्रथम शूरुआत 458 ईस्वी में में हुई मानी जाती है, जब कि ट्रोजन वॉर हुआ था और युद्ध के बाद सभी सैनिक घर वापस लौटे थे तो उनकी पत्नियों ने रेड कार्पेट बिछाया और उसके बाद उन्हें उस पर चलकर आने के लिए कहा. पर ऐसा भी कहा जाता है कि न्यूयॉर्क की सेंट्रल रेलरोड कंपनी ने साल 1902 में  एक ख़ास एक्सप्रेस ट्रेन चालू की थी.  इस दौरान प्लेटफॉर्म गन्दा ने हो इस से बचाने के लिए और यात्रियों के स्वागत के लिए प्लेटफार्म पर रेड कार्पेट बिछाया गया था. पर इसके विपरीत एक सर्वमान्य थ्योरी यही है कि मशहूर लोगों को अच्छा महसूस करवाने के लिए उन्हें रेड कार्पेट बिछाकर उस पर चलवाया जाता है.

Photo : Bbcnews

पर आप अभी भी ये सोच रहे होंगे कि आखिर रेड कार्पेट ही क्यों बिछाया जाता है तो आप घबराये नहीं हम ये भी आपको बताने जा रहे है कि आखिर रेड कारपेट ही क्यों बिछाया जाता था. क्योकि उस समय कार्पेट के कलर के लिए लाल रंग के अलावा किसी और रंग कि डाई नहीं मिलती थी. यही वजह थी कि लाल रंग का कार्पेट चलन में आया. वैसे लाल रंग को उच्चता का प्रतीक भी माना जाता हैं शायद इसीलिए भी रेड कारपेट का प्रयोग किया जाता है.

( Source )

featured image : animalia

Subscribe our YouTube channel -

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here