धोनी का वो छक्का, जिसने 2 अप्रैल को देश में दिवाली मनवा...

धोनी का वो छक्का, जिसने 2 अप्रैल को देश में दिवाली मनवा दी थी

0
SHARE

दीवाली यूँ तो अक्टूबर – नवम्बर के महीने में आती है लेकिन 2011 में एक दिन ऐसा भी आया था जब लोगों ने एक दीवाली असली दिवाली से काफी पहले ही मना ली थी. वह दिन था 2 अप्रैल का.

2011 में इस दिन क्रिकेट विश्व कप का फाइनल मैच हुआ था और धोनी ने विजयी छक्का लगाया था जिसके बाद देश दीवालीमय हो गया था. 28 साल बाद भारत ने विश्व कप जीता था इस दिन. इससे पहले महान क्रिकेटर कपिलदेव की कप्तानी में 1983 में पहली बार विश्व कप भारत की झोली में आया था.

इससे पहले साल 2003 में भी भारत विश्वकप के फाइनल में पहुंचा था लेकिन ऑस्ट्रेलिया से हार गया था. उस समय टीम के कप्तान सौरव गांगुली थे. लेकिन महेंद्र सिंह धोनी की अगुआई वाली टीम ने आखिरकार 2011 में विश्वकप दुबारा हासिल कर ही लिया.

इस दिन धोनी द्वारा लगाया गया ऐतिहासिक छक्का आज भी याद किया जाता है. आखिरी गेंद पर लगा वह छक्का जिसने भारत को विश्वकप दिलाया. इस छक्के के बारे में भारत के पूर्व महान क्रिकेटर सुनील गावस्कर कहते हैं कि यदि उनके जीवन के मात्र 15 सेकंड भी बचे हों और उनसे कुछ देखने को आखिरी बार कहा जाए तो वे धोनी का यही छक्का देखना चाहेंगे. आप भी एक बार फिर से देखिये वह विनिंग शॉट –

आपको बता दें कि वर्ल्ड कप 2011 के फाइनल में भारत की शुरुआत अच्छी नहीं रही थी. श्रीलंका के खिलाफ 275 रनों की पारी का पीछा करते हुए विस्फोटक बल्लेबाज पारी की दूसरी ही गेंद पर आउट हो गए थे. सचिन तेंदुलकर भी कुछ ख़ास नहीं कर पाए थे और मात्र 18 रन ही बना सके थे.

उस दिन पारी को संभाला था गौतम गंभीर और अपना पहला वर्ल्ड कप खेल रहे विराट कोहली ने. गंभीर ने उस दिन 91 रनों की शानदार पारी खेली. आखिर में कप्तान धोनी और मैन ऑफ़ थे सीरीज रहे युवराज सिंह क्रीज पर थे जब धोनी ने ये विनिंग शॉट लगाया.

 

 

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY