सही पकडे हैं

सही पकडे हैं

0
SHARE

vibhuti-angoori

एक दिन विभूति अंगूरी भाभी के घर गया.

विभूति – “भाभी जी, तिवारी जी की दूकान से मेरे लिए दो जोड़ी कच्छे बनियान मंगवा दीजिये …”

अंगूरी – “भरभूती जी, उनकी दुकान पर माल ख़त्म हो गया है, आप अम्माजान से मंगवा लीजिये …”

विभूति – “भाभी जी, its not अम्माजान … इट्स AMAZON !”

अंगूरी – “सही पकडे हैं …”

 

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY