ढूँढोगे अगर मुल्कों-मुल्कों मिलने के नहीं नायाब हैं हम – Shad Azimabadi...

ढूँढोगे अगर मुल्कों-मुल्कों मिलने के नहीं नायाब हैं हम – Shad Azimabadi Shayari

0
SHARE

Dhoondhoge agar mulkon-mulkon milne ke nahi naayaab hain ham – (A Shad Azimabadi ghazal in Hindi script) – 

A ghazal in Hindi by Shad Azimabadi

 

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY