इस शादी के कार्ड पर मन्त्रों की जगह लिखे हैं कुछ ऐसे...

इस शादी के कार्ड पर मन्त्रों की जगह लिखे हैं कुछ ऐसे सन्देश, जिन्होंने इसे वायरल कर दिया है

0
SHARE

हर कोई अपनी शादी को यादगार बनाना चाहता है और इसके लिए लोग ढेर सारे पैसे भी खर्च करने को तैयार रहते हैं. कोई पानी के भीतर फेरे लेता है तो कोई आसमान में. कोई हेलीकाप्टर से फूल बरसाने का इंतजाम करता है तो कोई दुल्हन को ही हेलीकाप्टर में बिठा कर ले जाना चाहता है.

लेकिन राजस्थान के झालावाड़ के रहने वाले पूरीलाल की शादी इनमें से किसी भी वजह से यादगार नहीं बनी है. बल्कि उनकी शादी यादगार बन गई उनके अनोखे शादी के कार्ड के कारण.

आमतौर पर आपने देखा होगा कि शादी के कार्ड पर लोग मंत्र, दोहे इत्यादि छपवाते हैं. पर पूरीलाल ने अपनी शादी का जो कार्ड छपवाया उस पर मन्त्रों और दोहों की जगह सामाजिक सन्देश छपवाए हैं.

सबसे पहले तो कार्ड पर एक तरफ स्वच्छता अभियान का logo छपवाया है. इसके बाद स्वच्छता के लिए प्रेरित करने वाले सन्देश छपे हैं, जैसे, “मेरा सपना, घर परिवार का सपना, शौचालय उपयोग ही, सम्मान है अपना” और “जन-जन का है, बस एक ही सपना, खुले में शौच मुक्त हो भारत अपना”.

इसके अलावा बेटी पढ़ाओ अभियान के प्रति लोगों को जागरूक करता हुआ सन्देश भी कार्ड पर छपा है, “घर महकेगा, परिवार महकेगा, बेटी पढ़ाओ, जग महकेगा”.

बाल विवाह की कुप्रथा के प्रति लोगों को जागरूक करने के लिए कार्ड में दूल्हा दुल्हन की जन्मतिथि लिखी गई है और साथ ही ये सन्देश भी कि “बाल विवाह अभिशाप ही नहीं कानूनन अपराध भी है”.

कुल मिलाकर कार्ड एक साथ कई सामाजिक सन्देश देता है. इस कार्ड को छपवाने में दूल्हे के चाचा रामनिवास मीना का दिमाग बताया जा रहा है जो पंचायत प्रसार एवं स्वच्छता अधिकारी के पद पर कार्यरत हैं.

बहरहाल, यह शादी 29 अप्रैल को होनी है. इस अभिनव प्रयोग के लिए पूरीलाल और उनके चाचा को हार्दिक बधाइयां.


(News : Jansatta)

 

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY