Home News नहीं रहीं बॉलीवुड की चांदनी, दुबई में दिल का दौरा पड़ने से...

नहीं रहीं बॉलीवुड की चांदनी, दुबई में दिल का दौरा पड़ने से निधन

0

हिंदी सिनेमा की सर्वाधिक लोकप्रिय अभिनेत्रियों में से एक श्रीदेवी का बीती रात दुबई में दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया है. वे दुबई में एक पारिवारिक शादी में सम्मिलित होने गई थीं. अभी उनकी उम्र मात्र 54 वर्ष की थी.

श्री अम्मा यांगेर अय्यप्पन, जिन्हें बाद में दुनिया ने श्रीदेवी के नाम से जाना, बॉलीवुड की पहली ‘फीमेल सुपरस्टार’ थीं. हिंदी फिल्मों में काम करने से पहले उन्होंने तमिल, तेलुगु, कन्नड़ और मलयालम फिल्मों में काम किया.

हिंदी सिनेमा में उनका प्रवेश 1978 में आई ‘सोलहवां सावन’ से हुआ लेकिन उन्हें पहचान मिली जीतेन्द्र के साथ आई उनकी फिल्म ‘हिम्मतवाला’ से जो 1983 में बनी थी. उस वक़्त सोशल मीडिया नहीं था लेकिन फिर भी हिम्मतवाला में उनके काम ने उन्हें रातोंरात शोहरत की उन बुलंदियों तक पहुंचा दिया था जिसकी फ़िल्मी सितारे कल्पना करते हैं.

फिर तो उन्होंने ढेरों सुपरहिट फ़िल्में दीं और आलम ये हो गया था कि लोग हीरो का नाम नहीं, बल्कि श्रीदेवी का नाम पढ़कर फ़िल्में देखने जाने लगे थे. ‘सदमा’, ‘चालबाज़’, ‘नगीना’, ‘मि. इंडिया’, ‘जुदाई’ जैसी अनेकों फ़िल्में हैं जिनमें उन्होंने अपने अभिनय के जौहर दिखाए थे.

उन्होंने अपने समकालीन सभी बड़े अभिनेताओं के साथ काम किया फिर चाहे वह अमिताभ बच्चन हों, अनिल कपूर हों, सनी देओल हों या ऋषि कपूर हों.

बोनी कपूर से शादी के बाद उन्होंने बॉलीवुड से ब्रेक ले लिया था. फिर उन्होंने दूसरी पारी शुरू करने के लिए ‘इंग्लिश-विन्ग्लिश’ में काम किया जिसे देश विदेश में सराहना मिली. उनकी आखिरी फिल्म ‘मॉम’ थी जो 2017 में आई थी.

पुरस्कारों की बात की जाये तो उन्हें 5 बार फिल्म फेयर अवार्ड मिला हुआ है. 2013 में भारत सरकार ने उन्हें ‘पद्मश्री’ से सम्मानित किया. एक मीडिया हाउस द्वारा कराये गए पोल के अनुसार उन्हें पिछले 100 सालों में भारत की महानतम अभिनेत्री माना गया था.

श्रीदेवी की जाह्नवी और ख़ुशी नामक दो बेटियाँ हैं. बताया जा रहा है कि उनके आखरी समय में पति बोनी कपूर और बेटी ख़ुशी उनके साथ थीं.

ईश्वर भारत की इस महान अदाकारा की आत्मा को शान्ति दे !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here