Home News जब कलेक्टर साहब खुद अपने ड्राईवर के ड्राईवर बन गए

जब कलेक्टर साहब खुद अपने ड्राईवर के ड्राईवर बन गए

0

वैसे तो आपने हमेशा किसी भी कलेक्टर या जिलाधिकारी को सरकारी गाडी में पीछे की सीट पर बैठे देखा होगा, पर इन दिनों सोशल मीडिया पर एक फोटो बहुत तेजी से वायरल हो रही है जिसने सभी का दिल जीत लिया है. दरअसल इस फोटो में तमिलनाडु के करुर जिले के कलेक्टर टी.अन्बालगन अपने ड्राईवर के लिए गाडी का गेट खोलते हुए नजर आ रहे है और कुछ बोल रहे है.

Photo : Jagran.com

दरअसल कलेक्टर कार्यालय में ड्राईवर के पद पर तैनात पारामासिवम 30 अप्रैल को 35 साल की लम्बी सेवा के बाद रिटायर हो रहे थे. इसलिए वहाँ के पदस्थ कलेक्टर ने उनके रिटायर्मेंट को खास और यादगार बनाने के लिए कुछ अलग अंदाज में ही उन्हें विदाई दी. उन्होंने अपने कार्यालय में अपने ड्राईवर और उनकी पत्नी को सोने का सिक्का और शाल देकर सम्मानित किया. इसके बाद उन्होंने खुद एक ड्राईवर बनकर अपनी सरकारी गाडी चलायी और अपने ड्राईवर और उसकी पत्नी को उनके घर तक छोड़ के आये. हालाँकि इतने वर्षो से कलेक्टर साहब के लिए गाडी चलने वाले ड्राईवर पारामासिवम थोड़े संकोच में थेे, पर कलेक्टर साहब के समझाने के बाद वह पीछे बैठ गए.

Storypick

मीडिया से बात करते हुए पारामासिवम ने कहा कि जब कलेक्टर साहब ने मेरे लिए खुद गाडी चलाने की बात कही तो मै हैरान रह गया. पर उनके समझाने के बाद मुझे उनकी बात माननी पड़ी. पारामासिवम से कलेक्टर टी. अन्बालगन ने कहा कि “अगर एक कलेक्टर एक दिन 16 घंटे कार्य करता है तो उसका ड्राईवर 18 घंटे काम करता है. तो फिर हमारा भी फ़र्ज़ बनता है उनके लिए कुछ किया जाए.” इतना ही नहीं, कलेक्टर साहब ने अपने ड्राईवर के रिटायर होने के उपलक्ष्य में 29 अप्रैल को एक शानदार पार्टी भी रखी थी जिसमे दफ्तर के सारे लोग उपस्थित हुए थे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here